मुकेश अंबानी ने खरीदा 88,078 करोड़ का स्पेक्ट्रम, अब देश के कोने-कोने तक पहुंचाएंगे 5जी नेटवर्क

Mukesh Ambani bought spectrum worth 88,078 crores
Share

नई दिल्ली (एजेंसी)। देश में पांचवीं पीढ़ी (5जी) के स्पेक्ट्रम की नीलामी में सोमवार को रिलायंस जियो सबसे बड़ी बोलीदाता के रूप में उभरी है। कंपनी ने अगले 20 सालों के लिए 88,078 करोड़ रूपये की बोली के साथ नीलामी में बिके कुल स्पेक्ट्रम में से करीब आधा हिस्सा हासिल किया है। बता दें कि टेलीकॉम डिपार्टमेंट, भारत सरकार द्वारा आयोजित 5जी स्पेक्ट्रम नीलामी में जियो ने उम्दा माने जाने वाले 700 मेगाहर्ट्ज बैंड समेत विभिन्न बैंड 800 मेगाहर्ट्ज, 1800 मेगाहर्ट्ज, 3300 मेगाहर्ट्ज और 26 गीगाहर्ट्ज  में स्पेक्ट्रम खरीदा है। बता दें कि अगर 700 मेगाहर्ट्ज बैंड का उपयोग किया जाता है, तो एक टावर ही काफी क्षेत्र को कवर कर सकता है।

देशभर में रोलआउट होगा 5जी नेटवर्क

रिलायंस जियो इंफोकॉम लिमिटेड के चेयरमैन और मुकेश अंबानी के बड़े बेटे आकाश अंबानी ने कहा, 4जी के बाद अब एक बड़ी महत्वाकांक्षा और मजबूत संकल्प के साथ जियो 5जी युग में भारत का नेतृत्व करने के लिए तैयार है। हम पूरे भारत में 5जी रोलआउट के साथ ‘आजादी का अमृत महोत्सव’ मनाएंगे। विश्व स्तरीय, सस्ती 5जी और 5जी-सक्षम सेवाएं प्रदान करने के लिए जियो प्रतिबद्ध है। इससे शिक्षा, स्वास्थ्य देखभाल, कृषि, विनिर्माण और ई-गवर्नेंस जैसे क्षेत्रों को बढ़ावा मिलेगा।

अडानी ने लगाई 212 करोड़ की बोली : अडानी ग्रूप ने 26 मेगाहर्ट्ज बैंड में स्पेक्ट्रम खरीदा है। यह सार्वजनिक नेटवर्क नहीं है। दूरसंचार क्षेत्र के दिग्गज सुनील मित्तल की भारती एयरटेल ने 43,084 करोड़ रूपये में 19,867 मेगाहर्ट्ज स्पेक्ट्रम खरीदा है। वहीं, वोडाफोन आइडिया ने 18,784 करोड़ रूपये का स्पेक्ट्रम खरीदा है।


Share