‘आसन के विरूद्ध सार्वजनिक टिप्पणियों से बचें सांसद’ -लोस की उत्पादकता 129% रही : बिरला

'MPs to avoid public comments against posture'-Loss productivity was 129%: Birla
Share

नई दिल्ली (एजेंसी)।  लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने कहा कि सदन के सदस्यों को मर्यादा का पालन करना चाहिए और सोशल मीडिया सहित सार्वजनिक रूप से आसन के विरूद्ध टिप्पणी से बचना चाहिए।

बिरला ने संसद के बजट सत्र के समापन के बाद संवाददाताओं से बातचीत में यह कहा। जब उनसे पूछा गया कि तृणमूल कांग्रेस की सांसद महुआ मोइत्रा ने दो मौकों पर आसन पर टिप्पणी की है तथा सोशल मीडिया में भी आसन के बारे में टीका टिप्पणी हो रही हैं, ऐसी स्थिति को वह किस प्रकार से देखते हैं, बिरला ने कहा कि सदन के सभी सदस्यों को मर्यादा का पालन करना चाहिए और सोशल मीडिया सहित सार्वजनिक रूप से आसन के विरूद्ध टिप्पणी से बचना चाहिए। इससे पहले बिरला ने संवाददाता सम्मेलन में कहा कि इस बार संसद के बजट सत्र में लोकसभा की उत्पादकता 129 प्रतिशत रही। इसके साथ 17वीं लोकसभा के आठों सत्रों की कुल उत्पादकता 106 प्रतिशत हो गयी है। सभी सदस्यों ने देर रात तक रूक कर अनेक विषयों पर अच्छी चर्चा की। पुराने अनुभव के आधार पर वह कह सकते हैं कि सदन की कार्यवाही सुचारू रूप से चली। उन्होंने कहा कि वह चाहते हैं कि सदन निर्बाध रूप से चले, व्यवधान नहीं हो, चर्चा हो, वाद विवाद हो और सदस्य सदन की मर्यादा एवं गरिमा को बनायें रखें।

उन्होंने कहा कि बजट सत्र 31 जनवरी को आरंभ हुआ था। इस सत्र के दौरान, कुल 27 बैठकें हुईं, जो लगभग 177 घंटे  50 मिनट तक चलीं।


Share