रणजी ट्रॉफी फाइनल में म.प्र. का पलड़ा भारी, पहली पारी में 162 रन की बढ़त, रजत ने भी लगाया शतक, मुंबई को जीत के लिए चमत्कार की जरूरत

MP in Ranji Trophy final Has the upper hand, lead by 162 runs in the first innings, Rajat also scored a century, Mumbai needs a miracle to win
Share

बेंगलुरू (एजेंसी)।  मध्य प्रदेश की टीम पहली बार रणजी ट्रॉफी खिताब जीतने के काफी करीब पहुंच गई है। टीम ने यश दुबे (133), शुभम शर्मा (116) और रजत पाटीदार (122) के शतकों की मदद से अपनी पहली पारी में 536 रन बनाए। इस तरह म.प्र. को पहली पारी के आधार पर 162 रन की बढ़त मिली। जवाब में मुंबई ने चौथे दिन स्टंप्स तक अपनी दूसरी पारी में दो विकेट खोकर 113 रन बनाए थे। अरमान जाफर 30 और सुवेद पाटकर 9 रन बनाकर नाबाद हैं। मुंबई अब भी 49 रन पीछे है।

मैच में 1 दिन का ही खेल बचा है और स्पष्ट परिणाम आने की संभावना काफी कम है। अगर ऐसा होता है तो म.प्र. की टीम पहली बार रणजी चैंपियन बन जाएगी। नियमों के मुताबिक अगर फाइनल का स्पष्ट नतीजा सामने नहीं आता है तो फिर पहली पारी के आधार पर चैंपियन का फैसला होता है।

मुंबई की टीम यहां से चैंपियन तभी बन सकती है जब वह आखिरी दिन बेहद तेज खेल दिखाते हुए रूक्क के सामने चुनौतीपूर्ण टारगेट रखे और फिर उसे समय रहते ऑलआउट भी कर दे।


Share