सबसे ज्यादा खेला जा रहा क्रिकेट का सबसे छोड़ा फॉर्मेट, पिछले 3 साल में 908 टी-20 मैच हुए, इनमें 641 उन टीमों ने खेले, जो टॉप-10 रैंकिंग में नहीं

Team India equals Australia's world record, won 38th match in a calendar year
Share

मुंबई (कार्यालय संवाददाता)। टी-20 अब क्रिकेट में सबसे ज्यादा खेला जाने वाला फॉर्मेट बन गया है। जबकि वनडे मैच कम हुए हैं। वहीं, टेस्ट में ज्यादा अंतर नहीं आया है। पिछले 3 साल में 908 मैच खेले गए हैं। इनमें से 641 उन टीमों ने खेले हैं। जो टॉप-10 रैंकिंग में नहीं हैं।

2007 वल्र्ड कप के बाद से टी-20 इंटरनेशनल की संख्या लगातार बढ़ी है। जबकि उसी साल खेले गए वनडे वल्र्ड कप के बाद से इस फॉर्मेट के मुकाबले कम हुए हैं। बता दें कि 2007 वल्र्ड कप से ही टी-20 फॉर्मेट को लोकप्रियता मिली है। आंकड़ों पर गौर करें तो पता चलता है कि टी20 आने के बाद टीमें पहले की तुलना में 50-60 वनडे कम खेल रही हैं। आमतौर पर किसी भी वल्र्ड कप के अगले तीन सालों में औसतन 322 वनडे मैच खेले जाते थे। लेकिन, 2019 वल्र्ड कप फाइनल के बाद अगले तीन सालों में सिर्फ 142 वनडे ही खेले गए। 2019 के वल्र्ड कप फाइनल में पहुंचने वाली न्यूजीलैंड ने इस दौरान सिर्फ 13 वनडे ही खेले। इस बीच टीम ने चार गुना ज्यादा टी20 मैच खेले। जबकि पिछले वल्र्ड कप से अब तक 120 टेस्ट मुकाबले हो चुके हैं। जो पहले 134 होते थे।

वनडे क्रिकेट पर खिलाडिय़ों की राय अलग-अलग

हाल ही में इंग्लैंड के ऑलराउंडर बेन स्टोक्स ने टी20 और टेस्ट को तरजीह देते हुए वनडे से संन्यास का ऐलान कर दिया था। ऑस्ट्रेलिया के उस्मान ख्वाजा ने इस फॉर्मेट को उबाऊ बताया। इंग्लैंड के मोइन अली ने कहा कि आने वाले दो सालों में या तो खिलाड़ी टेस्ट खेलना पसंद करेंगे या टी20, कोई भी वनडे नहीं खेलना चाहेगा। बांग्लादेश के वनडे कप्तान तमीम इकबाल का कहना था कि वनडे वल्र्ड कप का महत्व किसी अन्य ट्रॉफी से ज्यादा है और वनडे कहीं नहीं जाने वाला।

टी20 के लिए वनडे की कुर्बानी दे रहे देश

द. अफ्रीका बोर्ड ने तो अपनी नई नवेली टी20 लीग के लिए ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ तीन वनडे मैचों की सीरीज ही रद्द कर दी, जो कि उसके वनडे वल्र्ड कप में क्वालिफाई करने के लिए काफी अहम थी। वनडे क्रिकेट का भविष्य टी20 और टेस्ट के सामने कैसा रहेगा, इसके लिए हमने पिछले कुछ सालों की द्विपक्षीय सीरीज पर नजर डाली। जाहिर तौर पर आंकड़े इसी और इशारा कर रहे हैं कि वनडे धीरे-धीरे मर रहा है।

टी20 ने क्रिकेट को पूरी दुनिया में फैलाया

पिछले 3 सालों में 908 टी20 हुए। इनमें से 641 मैच ऐसे देशों के बीच खेले गए, जो रैंकिंग में टॉप-10 में भी नहीं हैं। पिछले 3 सालों में टी20 में कुल 1382 खिलाडिय़ों का डेब्यू हुआ। इनमें से 1257 खिलाड़ी, उन 80 देशों के हैं, जो टॉप-10 में नहीं है। वनडे में 90 देशों के 230 और टेस्ट के सिर्फ 119 नए खिलाड़ी जुड़े। दुनिया में टेस्ट खेलने वाले सिर्फ 12 जबकि वनडे खेलने वाले 26 देश हैं। वहीं टी20 मैच 90 देश खेलते हैं।


Share