आईपीएल में पहली बार लगे एक हजार से ज्यादा छक्के, चार साल पुराना रिकॉर्ड टूटा, अभी तक तो प्ले ऑफ 1 व 2, एलिमिनेटर व फाइनल मैच बाकी

The pace of ODIs increased by 7-8 times from IPL, 400+ runs in 15 ODIs in 14 years after IPL, this happened only 5 times in first 37 years
Share

मुंबई (कार्यालय संवाददाता)। आईपीएल 2022 में लीग मैच पूरे हो चुके हैं और मंगलवार से प्लेऑफ के मुकाबले शुरु हो रहे हैं। अब तक जोस बटलर और लियम लिविंगस्टोन जैसे बल्लेबाजों ने कमाल की बल्लेबाजी की है और जमकर छक्के लगाए हैं। वहीं, युजवेन्द्र चहल और वनिंदू हसरंगा जैसे गेंदबाजों ने खूब विकेट चटकाए हैं। आईपीएल 2022 में किसी एक सीजन सबसे ज्यादा छक्के लगने का रिकॉर्ड भी टूट चुका है। इस सीजन एक हजार से ज्यादा छक्के लग चुके हैं। आईपीएल इतिहास में यह पहला मौका है, जब किसी एक सीजन में एक हजार से ज्यादा छक्के लगे हैं। इस साल बल्लेबाजों ने 70 लीग मैचों में 1001 छक्के लगाए हैं। अभी तक यह आंकड़ा और बड़ा हो सकता है क्योंकि अभी तो प्ले ऑफ 1 व 2, एलिमिनेटर व फाइनल मैच होने बाकी है।

इससे पहले आईपीएल 2018 में सबसे ज्यादा छक्के लगे थे। इस सीजन 60 मैचों में 872 छक्के लगे थे। आईपीएल 2022 में यह रिकॉर्ड 15 मई को 62वें मैच में ही टूट गया था। इसके बाद 70वें मैच में एक हजार छक्के भी पूरे हो गए। इन दो सीजन को छोड़ दिया जाए तो बाकी किसी भी सीजन में 800 छक्के भी नहीं लगे थे। आईपीएल 2019 में 784 छक्के लगे थे, जो कि सबसे ज्यादा छक्के का तीसरा सबसे बेहतरीन रिकॉर्ड है। सबसे कम 506 छक्के आईपीएल 2009 में लगे थे।

छक्के    मैच         साल

1001       70          2022*

872         60           2018

784         60           2019

734         60           2020

734         75           2012

714         60           2014

705         59           2017

इस सीजन सबसे ज्यादा छक्के बटलर के नाम

इंग्लैंड के जोस बटलर इस सीजन छक्के लगाने के मामले में सबसे आगे हैं। उन्होंने 14 मैचों में 37 छक्के लगाए हैं। वहीं, लियम लिविंगस्टोन ने 34 छक्के लगाए हैं। इस सूची में आंद्रे रसेल 32 छक्कों के साथ तीसरे, केएल राहुल 25 छक्कों के साथ चौथे और रोवमन पॉवेल 22 छक्कों के साथ पांचवें नंबर पर हैं। हालांकि, अब रसेल, लिविंगस्टोन और पॉवेल को कोई मैच नहीं खेलना है। ऐसे में सबसे ज्यादा छक्के का रिकॉर्ड बटलर के नाम रहने की पूरी संभावना है, क्योंकि राहुल उनसे बहुत पीछे  हैं।


Share