मानसून ने फिर खोला पिटारा, मेवाड़-वागड़ में झमाझम, घाटोल में डेढ़ घंटे में पौने तीन इंच बरसात, आमेट में सवा दो, उदयपुर के मदार पर दो इंच बारिश

Monsoon becomes active again in Rajasthan
Share

नगर संवाददाता . उदयपुर। नया महीना लगते ही मानसूनी बादल एक बार फिर लौट आए हैं व मौसम के पूर्वानुमान को सही साबित करते हुए गुरूवार को मेवाड़-वागड़ में झमाझम पानी की बरसात की। यह दौर दो दिन और चलेगा तथा 7 सितम्बर के बाद से फिर मानसून अंतिम चरण के लिए सक्रिय होगा। उदयपुर में इस सीजन की 50 प्रतिशत से अधिक बारिश हो चुकी है। झीलों की नगरी में गुरूवार सुबह तेज धूप खिले मगर दोपहर बाद नजारा बदल गया। डेढ़ बजे बूंदाबांदी व उसके बाद तेज बारिश का सिलसिला शुरू हो गया जो रात तक जारी रहा। शहर में  कई जगह पानी भर गया तथा एक जगह बिजली गिरने से छज्जा टूट गया तथा शार्ट सर्किट से नुकसान हुआ। मौसम विभाग के अनुसार उदयपुर में गुरूवार सुबह 8 बजे से शाम 6 बजे तक मदार में सर्वाधिक 50 मिमी, उदयपुर शहर में 42 मिमी, स्वरूप सागर में 36 मिमी, झाड़ोल में 10 मिमी व ओगणा में 10 मिमी बारिश दर्ज की गई। गौरतलब है कि उदयपुर में जयसमंद को छोड़ सभी झीलें व बांध भर गए हैं।  जयसमंद का जलस्तर 7.52 मीटर पहुंच गया है व लबालब होने से अभी 0.86 मीटर बाकी है। यही दौर जारी रहा तो कुछ  ही दिनों में छलक सकता है।

राजसमंद जिले में आमेट कस्बे में 1 सप्ताह बाद गुरूवार दोपहर 1 घंटे तक झमाझम बारिश हुई। सड़कों पर पानी भर गया व जनजीवन प्रभावित हुआ। 54 मिमी बारिश दर्ज की गई। बारिश के बाद बस स्टैण्ड, एसडीएम कार्यालय रोड, रेलवे स्टेशन पेट्रोल पम्प के पास सड़कें दरिया बन गईं।  गुरूवार सुबह 8 बजे से राजसमन्द जिले की 5 तहसील क्षेत्र में बारिश हुई। देलवाड़ा में 10 मिमी, खमनोर तहसील व गढ़बोर तहसील में 4-4 मिमी, नाथद्वारा में 9 मिमी जबकि सर्वाधिक 54 मिमी बारिश आमेट में दर्ज की गई।

बांसवाड़ा जिले के घाटोल में डेढ़ घंटे में पौने तीन इंच बारिश हो गई।  एलबीएस स्कूल में दो फीट से ज्यादा पानी भर गया। बारिश से पूरा कस्बा ही तलैया बन गया। सड़क पर भरा पानी दुकानों में घुस गया। बांसवाड़ा में इस दौरान खंड वर्षा दर्ज की गई। घाटोल के अलावा भूंगड़ा में 63 मिमी, दानपुर में 40 मिमी, लोहारिया में 35 मिमी बरसात दर्ज की गई। घाटोल में ही पुराने ग्राम पंचायत भवन की जर्जर इमारत ढह गई।


Share