हाथरस में बंदरों ने रोका चुनाव , गिराया त्रिपाल, कुर्सियां तोड़ीं; लाइन में मतदाता लाइन छोड़कर भागे

monkeys-stopped-elections-in-hathras-dropped-tripal-broke-chairs
Share

हाथरस (एजेंसी)। यूपी में थर्ड फेज में 16 जिलों में मतदान हुआ। इन्हीं में से एक हाथरस जिला भी है। यहां की सादाबाद विधानसभा में एक पिंक बूथ सुबह-सुबह बंदरों ने जमकर तांडव मचाया। उन्होंने कुछ दूर के लिए तो बूथ पर कब्जा कर लिया। लाइनों में लगे लोग भाग खड़े हुए। बंदरों ने इस पिंक बूथ पर लगे पंडाल को फाड़ डाला। कई कुर्सियां भी तोड़ डालीं। बाद में सुरक्षाकर्मियों ने किसी तरह उन्हें भगाया, तब जाकर दोबारा सुचारू रूप से मतदान शुरू हुआ। हाथरस की तीनों विधानसभा में 5-5 पिंक बूथ बनाए गए हैं। जिले में 15 पिंक बूथ बनाए गए हैं। जिस बूथ पर बंदरों ने उत्पात मचाया वो सादाबाद का जूनियर हाई स्कूल है। यहीं पर बीआरसी का केंद्र भी है, लेकिन इस पिंक बूथ पर बंदरों ने कब्जा कर लिया।

सपा-भाजपा में है कांटे की टक्कर : हाथरस सदर सीट पर भाजपा, बसपा और सपा के बीच मुकाबला नजर आ रहा है। भाजपा ने आगरा की पूर्व मेयर को अपना प्रत्याशी बनाया है। बसपा ने नगर पंचायत विजयगढ़ के चेयरमैन संजीव काका को प्रत्याशी बनाया है। वहीं सपा ने पिछला चुनाव बसपा की टिकट पर लड़े ब्रजमोहन राही को मैदान में उतारा है। ये सीट हमेशा से बसपा का गढ़ रही है। 2017 के मोदी लहर में यह सीट भाजपा के खाते में आई थी। हाथरस सदर में 4.15 लाख मतदाता हैं।


Share