‘यूपी के भइया’ पर मोदी का जवाब, ‘पंजाब में ऐसा कोई गांव नहीं, जहां उ.प्र.-बिहार के भाई न हों; संत रविदास भी यूपी के थे, निकाल दोगे?’

Modi's reply on 'Bhaiya of UP', 'There is no such village in Punjab, where there are no brothers of UP-Bihar; Sant Ravidas was also from UP, will you remove it?'
Share

चंडीगढ़ (एजेंसी)।  प्र.म. नरेंद्र मोदी ने गुरूवार को पंजाब के अबोहर में रैली को संबोधित किया। इस मौके पर उन्होंने पंजाब के सीएम  चरणजीत चन्नी के उस बयान पर पलटवार किया, जिसमें चन्नी ने उ.प्र.-बिहार के भइयों का जिक्र किया था। मोदी बोले कि कांग्रेस हमेशा से एक क्षेत्र के लोगों को दूसरे से लड़ाती रही है। मोदी बोले- कांग्रेस के सीएम  ने बयान दिया और दिल्ली के परिवार के मालिक ने बगल में खड़े होकर तालियां बजाईं। यह पूरे देश ने देखा है। अपने इन बयानों से किसका अपमान किया जा रहा है?

मोदी ने कहा, यहां का कोई ऐसा गांव नहीं होगा, जहां हमारे उत्तर प्रदेश या बिहार के भाई-बहन मेहनत न करते हों। कल ही हमने संत रविदास जी की जयंती मनाई। संत रविदास जी भी उत्तर प्रदेश के बनारस में पैदा हुए थे। कांग्रेस कहती है कि उत्तर प्रदेश के भइयों को घुसने नहीं देंगे। क्या संत रविदास जी को भी निकाल दोगे। श्री गुरू गोबिंद सिंह जी का जन्म भी पटना बिहार में हुआ। कांग्रेस कहती है कि बिहार के लोगों को घुसने नहीं देंगे। क्या यह लोग श्री गुरू गोबिंद सिंह जी का अपमान कर रहे हैं?

कुमार विश्वास के बयान पर केजरीवाल को घेरा

प्र.म. ने कुमार विश्वास के बयान पर आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल को भी घेर लिया। प्र.म. ने कहा कि उन्हीं के एक विश्वस्त साथी और खासमखास दोस्त (कवि कुमार विश्वास) ने जो आरोप लगाया, वह बहुत खतरनाक है। साथी ने ही उनके (अरविंद केजरीवाल) इरादों के बारे में जो कहा है, इसे हर मतदाता और देशवासी को गंभीरता से लेने की जरूरत है। यह लोग पंजाब को तोडऩे का सपना देख रहे हैं। सत्ता पाने के लिए वह अलगाववादियों से हाथ मिलाने को तैयार हैं। सत्ता पाने के लिए अगर देश को तोडऩा पड़े तो वह इसके लिए भी तैयार हैं। इनका, देश के दुश्मनों और पाकिस्तान का एजेंडा अलग नहीं है। इसीलिए वो बॉर्डर पर क्चस्स्न का एरिया बढऩे का विरोध करते हैं। प्र.म. ने कहा कि अलगाव और आराजकता के नशे में डूबे इन लोगों को पता नहीं कि पंजाब ने कितने घाव झेले लेकिन हमेशा देश के लिए मरने-मिटने में आगे रहा है।

केजरीवाल पर बरसे प्रधानमंत्री

रैली को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि जो लोग दिल्ली में आपको घुसने नहीं देना चाहते, वो लोग आपसे वोट मांग रहे हैं। क्या ऐसे लोगों को पंजाब में कुछ भी करने का हक है क्या? उन्होंने कहा, एक और दुख की बात है कि अगर आपके पास आयुष्मान कार्ड है भोपाल, अहमदाबाद, लखनऊ जाएंगे तो आपका इलाज हो जाएगा, लेकिन दिल्ली जाएंगे जहां मुख्यमंत्री जो बैठे हैं वो दिल्ली के अस्पताल में इलाज के लिए मना कर देंगे। क्योंकि इस योजना के साथ वो जुडऩे के लिए तैयार नहीं हैं।

दिल्ली में किसी सिख को क्यों नहीं बनाए मंत्री?

इस दौरान मोदी ने आम आदमी पार्टी पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा कि यहां कुछ नए लोग आ गए हैं। ये लोग यहां सिखों के सम्मान की बात करते हैं, लेकिन दिल्ली में किसी को मंत्री नहीं बनाया। यहां पंजाब को नशामुक्त कराने की बात कराते हैं और दिल्ली में हर स्कूल के पास ठेके खुले हैं। यही लोग हैं, जो पलूशन बढऩे पर पंजाब के किसानों पर निशाना साधते हैं। आज यहां किसानों को गले लगाने की बात करते हैं, क्या यह किसी के गले उतरेगी।

पंजाब छोड़कर जा रही कंपनियां

प्रधानमंत्री ने कहा, इतनी संभावनाओं से भरा पूरा पंजाब, लेकिन इंडस्ट्रीज यहां से छोड़कर जा रही हैं। कांग्रेस सरकार की नीतियों के कारण यहां जल्दी कोई आने को तैयार नहीं। इन स्थितियों को भी डबल इंजन की सरकार ही बदल सकती है। पंजाब में आज हर व्यापार, माफियाओं के कब्जे में है। व्यापारियों को माफियाओं की कृपा पर जीने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है। इसकी सबसे बड़ी तकलीफ हमारे छोटे व्यापारियों को हो रही है।


Share