मोदी करेंगे महाकाल कॉरिडोर का शुभारंभ,काशी विश्वनाथ से चार गुना होगा बड़ा

Modi will inaugurate Mahakal corridor, will be four times bigger than Kashi Vishwanath
Share

उज्जैन (एजेंसी)। काशी विश्वनाथ कॉरिडोर की तर्ज पर उज्जैन के महाकाल मंदिर परिसर के विस्तार कार्य का उद्घाटन भी प्रधानमंत्री मोदी कर सकते हैं। गुरूवार को दिल्ली में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रधानमंत्री मोदी से मिलकर उन्हें इसका न्योता दिया। प्रधानमंत्री मोदी ने भी इसके लिए उज्जैन आने के संकेत दिए हैं।

शिवरात्रि से पहले हो सकता है उद्घाटन

महाशिवरात्रि का त्योहार 1 मार्च होने के चलते महाकाल मंदिर कॉरिडोर के पहले चरण का उद्घाटन 28 फरवरी को होने की संभावना है। सरकार की कोशिश है कि महाशिवरात्रि से पहले महाकाल मंदिर के विस्तार कार्य के पहले चरण का उद्घाटन कर दिया जाए। हालांकि प्रधानमंत्री मोदी की यूपी चुनाव में व्यस्तता को देखते हुए ये कार्यक्रम अभी नहीं हुआ, तो फिर अप्रैल में हो सकता हैं। इसके अलावा प्र.म. इंदौर में सीएनजी प्लांट का भी वर्चुअल उद्घाटन कर सकते हैं।

705 करोड़ का है महाकाल विस्तार प्रोजेक्ट

705 करोड़ के महाकाल विस्तार प्रोजेक्ट के पहले चरण के काम को फाइनल टच दिया जा रहा है। इसमें महाकाल पथ, महाकाल वाटिका, रूद्रसागर तट का विकास शामिल है। प्रोजेक्ट दो तरह से तस्वीर बदलेगा। पहला- दर्शन आसान होंगे। दूसरा- दर्शन के साथ लोग धार्मिक पर्यटन भी कर पाएंगे। कैंपस में घूमने, ठहरने, आराम करने से लेकर तमाम सुविधाएं मौजूद होंगी। महाकाल का कैम्पस 2 से बढ़कर 20 हेक्टेयर में फैलने के बाद काशी विश्वनाथ कॉरिडोर (5 हेक्टेयर) से भी चार गुना बड़ा हो जाएगा। दो चरणों में से पहले चरण का काम महाशिवरात्रि से पहले पूरा होने जा रहा है। मुख्यमंत्री चौहान खुद प्रोजेक्ट का लगातार फीडबैक ले रहे हैं। दूसरा चरण अगले साल (2023) मई-जून तक पूरा करने का लक्ष्य है। इसके पूरा होने के बाद हर घंटे बिना रूकावट के एक लाख श्रद्धालु दर्शन कर सकेंगे।


Share