मोदी ने याद दिलाया ‘दो लड़कों’ का ‘दो गधों’ वाला बयान, कहा- जनता ने हिसाब कर दिया था

Share

नई दिल्ली (एजेंसी)। यूपी विधानसभा चुनावों के पहले चरण के चुनाव 10 फरवरी को होने जा रहे हैं। उससे पहले  प्र.म. नरेंद्र मोदी ने समाचार एजेंसी एएनआई को दिए इंटरव्यू में उनके खिलाफ बने गठबंधन पर तंज कसा है।  प्र.म. मोदी का कहना है कि यूपी की जनता पहले भी अहंकार भरी जुगलबंदी देख चुकी है और माकूल जवाब भी दे चुकी है। जब मोदी से पूछा गया कि यूपी में ऐसा लग रहा है कि एक तरफ युवा नेता हैं अखिलेश हैं जयंत जिनके खिलाफ हैं मोदी और योगी व पूरी सरकारी मशीनरी। इस पर मोदी बोले, ‘यह दो लड़कों वाला खेल तो हमने पहले भी देखा है। इतना अहंकार था कि उन्होंने गुजरात के दो गधे इस शब्द का प्रयोग किया था। उत्तर प्रदेश की जनता ने उनको हिसाब दिखा दिया। एक बार तो ‘दो लड़के’ भी थे और एक ‘बुआ जी’ भी थीं लेकिन फिर भी उनका काम नहीं बना।‘

जयंत और अखिलेश और अतीत में हुए राहुल व अखिलेश के गठबंधन की गंभीरता पर तंज कसते हुए मोदी ने कहा, ‘अगर कहीं चुनाव लडऩे की अर्हता 25 साल हो और कोई पिता कहे कि मेरे एक 10 साल और दूसरे 15 साल के लड़के हैं, दोनों मिलाकर 25 साल के हो गए तो क्या उन्हें कोई चुनाव लडऩे देगा क्या।‘

अखिलेश यादव पर बरसे

समाजवादी पार्टी चीफ अखिलेश यादव ने एक मंच से कहा था कि उ.प्र. में योजनाएं भाजपा की नहीं हैं, भाजपा अमलीजामा पहनाती है। इस पर भी प्र.म मोदी ने अखिलेश यादव को आड़े हाथों लिया। प्र.म. ने कहा कि देश में एक कल्चर चला है, राजनेता बोलते रहते हैं कि हम ये करेंगे, वो करेंगे। 50 साल बाद भी कोई अगर वो काम कर देगा तो कहेंगे कि हमने ये उस समय कहा था, ऐसे लोग बहुत मिल जाएंगे।

-लखीमपुर हिंसा पर यह बोले प्र.म.

लखीमपुर खीरी हिंसा मामले पर बोलते हुए  प्र.म. ने कहा कहा कि सुप्रीम कोर्ट जो कमेटी बनाना चाहती थी, राज्य सरकार ने सहमति दी। जिस जज के नेतृत्व में जांच चाहती थी सरकार ने सहमति दी। राज्य सरकार पारदर्शिता के साथ काम कर रही है तभी सुप्रीम कोर्ट की इच्छा के अनुसार सारे निर्णय करती है।

‘नकली समाजवाद… पूरी तरह परिवारवाद’

परिवारवाद से जुड़े सवालों पर बोलते हुए  प्र.म. ने कहा कि मैं समाज के लिए हूं परन्तु मैं जो नकली समाजवाद की चर्चा करता हूं ये पूरी तरह परिवारवाद है। लोहिया जी का परिवार कहीं नजर आता है क्या? जॉर्ज फर्नांडिस का परिवार कहीं नजर आता है क्या? नीतीश बाबू का परिवार कहीं नजर आता है क्या? प्रधानमंत्री ने आगे कहा कि एक बार किसी ने मुझे चि_ भेजी थी कि उ.प्र. में समाजवादी पार्टी के परिवार से 45 लोग ऐसे थे जो किसी न किसी पद पर थे। किसी ने मुझे कहा कि उनके पूरे परिवार में 25 साल से अधिक आयु के हर व्यक्ति को चुनाव लडऩे का मौका दिया गया है।

-यूपी ने नकार दी है  ‘एक बार आओ, एक बार जाओ’ की व्यवस्था

उन्होंने कहा, जब हम सत्ता में होते हैं तो पूरी ऊर्जा और बड़े स्तर पर ‘सबका साथ, सबका विकासÓ के मंत्र के साथ काम करते हैं। पांचों राज्यों में सबसे अहम माने जा रहे उत्तर प्रदेश को लेकर मोदी ने कहा कि यहां जनता ने ‘एक बार आओ, एक बार जाओ’ की व्यवस्था नकार दी है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि भाजपा सामूहिक नेतृत्व में भरोसा करती है। हमें एक साथ मिलकर काम करने की आदत है। भाजपा की होर्डिंग पर पार्टी के कार्यकर्ताओं की तस्वीरें इसे स्पष्ट करती हैं। उन्होंने कहा कि हम हारें या फिर जीतें, चुनाव हमारे लिए एक ओपन यूनिवर्सिटी की तरह हैं।


Share