अपनी कमियां छिपाने विधायक फैला रही भ्रामक बातें: राठौड़, बहुद्देशीय पशु चिकित्सालय के मामले को कांग्रेस ने दी सफाई

MLA is spreading misleading things to hide his shortcomings: District President Harisingh Rathod
Share

राजसमंद (प्रात:काल संवाददाता)। कांग्रेस कमेटी के नव नियुक्त जिलाध्यक्ष हरीसिंह राठौड़ ने कहा कि स्थानीय विधायक स्वयं और अपनी पार्टी की विफलताओं को छिपाने के लिए जनता के सामने भ्रामक बातें फैलाकर भ्रमित करने का प्रयास कर रही हैं। जिलाध्यक्ष राठौड़ ने शुक्रवार को निजी रेस्टोरेंट में बहुद्देशीय पशु चिकित्सालय को लेकर पत्रकार वार्ता की। उन्होंने कहा कि बहुद्देशीय पशु चिकित्सालय सन् 2013 में अशोक गहलोत सरकार द्वारा विभिन्न जिलों को किए गए आवंटन के तहत जिले को भी मिला था। इसके लिए वर्ष 2014 में धोइंदा और जावद के बीच जमीन का आवंटन भी किया गया था। उस जमीन पर पूर्व से किसी का कब्जा किया हुआ था, जिसे तत्कालीन सरकार व प्रशासन नहीं हटवा सके।  जबकि, वर्ष 2014 से लेकर 2018 तक नगर परिषद में चेयरमैन, विधायक, सांसद और राज्य सरकार सभी भाजपा के ही थे।  पिछले सात सालों से राज्य सरकार की ओर से पशुपालकों को जो सौंगात दी गई। उसका जिले के पशुपालकों को किसी प्रकार का लाभ नहीं मिल पाया। उन्होंने कहा कि यहां नाथूवास में श्रीनाथजी मंदिर मंडल की ओर दी गई जमीन पर यह चिकित्सालय बनाया जाना प्रस्तावित है। राजसमंद के पशुपालकों को भी इस सुविधा से वंचित नहीं रखा जाएगा और यहां भी राज्य सरकार से जल्द ही बहुद्देशीय चिकित्सालय स्वीकृत कराएगी। साथ ही नगर परिषद सभापति अशोक टांक द्वारा त्वरित कार्यवाही करवाते हुए चिकित्सालय के लिए आवंटित जमीन से अतिक्रमण हटवाया जाकर वहीं पर निर्माण करवाने का प्रयास करेंगे। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि राजसमंद झील को भरने के लिए माही नदी का पानी राजसमंद लाने की डीपीआर बनाने के लिए वर्ष 2013 में गहलोत सरकार एवं डॉ. सीपी जोशी के आशीर्वाद से 4 करोड़ 56 लाख रुपए का बजट आवंटित हुआ था, जिसे भी 2014 में भाजपा सरकार ने पहली कैबीनेट बैठक में निरस्त कर दिया गया। जबकि, इस बैठक में स्थानीय विधायक कैबीनेट मंत्री के रूप में शामिल थीं। उन्होंने 1300 करोड़ रुपए की लागत से देवास का पानी लाने का ढिंढ़ोरा भी पूरे राजसमंद में पिटा था, लेकिन वो भी हवाहवाई ही साबित हुआ। न.प.सभापति अशोक टांक ने जिम्मेदारी लेेते हुए कहा कि बहुद्देशीय चिकित्सालय के लिए आवंटित की गई जमीन से जल्द से जल्द अतिक्रमण हटवाएंगे। उन्होंने कहा कि इसके साथ ही राजसमंद में वर्तमान में स्थित पशु चिकित्सालय को भी अपग्रेड करवाने के साथ पर्याप्त चिकित्सक, सर्जन आदि के साथ ही ऑपरेशन एवं सभी तरह की अत्याधुनिक पशुचिकित्सा सुविधाएं राज्य सरकार से उपलब्ध करवाते हुए स्थानीय पशुपालकों को लाभांवित करवाएंगे।   इस दौरान पूर्व जिलाध्यक्ष देवकीनंदन गुर्जर, न.प.उपसभापति चुन्नीलाल पंचोली, सघन क्षेत्र विकास समिति अध्यक्ष दिग्विजयसिंह राठौड़, ओबीसी प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष नानालाल सार्दुल, ब्लॉक कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष शांतिलाल कोठारी एवं पार्षद हेमंत रजक मौजूद थे।


Share