नाबालिग ने रूकवाई अपनी शादी, बाल आयोग अध्यक्ष को दी व्हाट्स एप्प पर सूचना

नाबालिग ने रूकवाई अपनी शादी, बाल आयोग अध्यक्ष को दी व्हाट्स एप्प पर सूचना
Share

उदयपुर . नगर संवाददाता। शहर के कुराबड़ क्षेत्र के एक गांव में एक नाबालिग लड़की ने हिम्मत कर खुद अपनी शादी रूकवा दी। इस किशोरी ने बाल आयोग की अध्यक्ष संगीता बेनीवाल को व्हाट्स एप्प पर मैसेज कर सारी जानकारी दी और यह तक बता दिया कि उसकी जबरन शादी करवाई जा रही है और उसे एक घर में बंद कर रखा है। इस पर बेनीवाल लगातार इस किशोरी से बात कर रही थी और शादी रूकवाने का आश्वासन दे रही थी और इसके साथ ही पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों के सम्पर्क में रही और आखिरकार शादी रूकवा ही दी। इस किशोरी ने अपने घर पर जाने से मना कर दिया और पुलिस ने इसे शेल्टर होम में भेजा है।

जानकारी के अनुसार कुराबड़ के पास भूतिया गांव की रहने वाली 14 वर्षीय बालिका की रविवार को शादी होनी थी। वह 7वीं कक्षा तक पढ़ी है और बाद में पढ़ाई छूट गई। शादी से पहले बालिका ने बाल आयोग की अध्यक्ष संगीता बेनीवाल को अपनी शादी की सूचना दी। किशोरी ने संगीता बेनीवाल से व्हाट्स एप्प चैट कर मदद मांगी थी और सारी जानकारी दी थी। संगीता बेनीवाल लगातार नाबालिग से वॉट्सऐप पर चैट करती रहीं। नाबालिग लगातार अपने घर पर जो भी कार्यक्रम हो रहा था उस बारे में संगीता को बताती रही। संगीता उसी अनुसार प्रशासन और पुलिस को निर्देश देती रहीं।

पुलिस के जाने पर परिजनो ने इस नाबालिग को छुपा दिया गया था। नाबालिग ने मैसेज कर बताया कि मेरे घर में टेंट लगा हुआ है। जल्दी घर आ जाओ। वह बता रही थी कि उसके परिवार के लोग रविवार को ही शादी कराने की बात कर रहे हैं। नाबालिग ने चैट में बताया कि उसके घर वाले उसे छुपाना चाहते हैं। साथ ही पुलिस के सामने खुद की शादी नहीं होने का झूठ बोलने का भी दबाव बना रहे हैं। बेनीवाल ने तत्काल उदयपुर जिला कलेक्टर से सम्पर्क साधा ओर कार्यवाही के लिए कहा। इस पर जिला कलेक्टर ने इलाके की एसडीएम और कुराबड़ थानाधिकारी को मौके पर भेजा। पुलिस मौके पर जाकर लड़की को अपने साथ ले आई है। तहसीलदार ने नाबालिग के बयान लिए हैं। उसे चाइल्ड वेलफेयर कमेटी के सामने पेश कर दिया गया है। परिजन के डर से नाबालिग वापस घर नहीं जाना चाहती है। जिस पर उसे शेल्टर होम भेज दिया।


Share