राजनीतिक नियुक्तियां प्राप्त नेताओं को राज्यमंत्री का दर्जा

Minister of state status to politically appointed leaders
Share

जयपुर (कार्यालय संवाददाता)। राजस्थान की गहलोत सरकार ने पूर्व विधायकों एवं कांग्रेसी नेताओं को राज्य मंत्री का दर्जा दिया है। कैबिनेट सचिवालय ने सोमवार को आदेश जारी कर दिए है। गहलोत सरकार ने 1 मार्च को 67 राजनीतिक नियुक्तियां दी थी। सरकार ने 3 नेताओं को कैबिनेट मंत्री का दर्जा देने के आदेश पहले ही जारी कर दिए थे। लेकिन राज्य मंत्रियों के आदेश जारी नहीं किए थे। कैबिनेट सचिवालय के आदेश के अनुसार राजनीतिक नियुक्तियां प्राप्त नेताओं को राज्य मंत्री का दर्जा दिया गया है। बताया जाता है कि नेताओं के बीच आपसी खींचतान के वजह से आदेश जारी नहीं हुए थे। सीएम गहलोत के दखल के बाद मामला शांत हुआ। इसके बाद आज कैबिनेट सचिवालय ने राज्य मंत्री का दर्जा देने के आदेश जारी कर दिए।

जुबेर खान और धीरज गुर्जर को मिला राज्य मंत्री का दर्जा

यूपी के सह प्रभारी एवं कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव धीरज गुर्जर को राज्यमंत्री का दर्जा मिला है। गहलोत सरकार ने धीरज गुर्जर को राजस्थान स्टेट सीड्स कॉरपोर्शन लि. का अध्यक्ष बनाया गया है। इसी प्रकार प्रियंका गांधी टीम के दूसरे सदस्या जुबेर खान को मेवात क्षेत्रीय विकास बोर्ड का अध्यक्ष बनाया गया है। दोनों नेताओं को राज्यमंत्री का दर्जा दिया गया है। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के हस्तक्षेप के बाद ही सीएम गहलोत ने दोनों नेताओं को राजनीतिक नियुक्तियों का तोहफा दिया था।

इन नेताओं को भी मिला राज्यमंत्री का दर्जा

हाकम अली खान, पुखराज पाराशर, धर्मेंद्र सिंह राठौड़, जस्टिस भवरू खान, रेहाना रियाज चिश्ती, गोपाल सिंह शेखावत, मानवेंद्र सिंह, के सी विश्नोई, सुरेंद्रसिंह जाड़ावत, राजेंद्र सिंह सोलंकी, राजीव अरोड़ा ,संदीप चौधरी, उमाशंकर शर्मा, महेंद्र गहलोत, सीताराम लांबा , उर्मिला योगी, अनिल शर्मा, रामसिंह राव, लक्ष्मण कड़वासरा, मदन गोपाल मेघवाल, भेरूलाल गुर्जर, महेश शर्मा, मुमताज मसीह, शंकर यादव, पवन गोदारा, अर्चना शर्मा, लक्ष्मण सिंह रावत, संदीप चौधरी, लक्ष्मण मीणा, रमीला खडिय़ा, लाखन सिंह मीणा और रफीक खान आदि।


Share