आज 500 से अधिक केंद्रों पर लगेंगे टीके, कोविड टीकाकरण के लिए मेगा वैक्सीनेशन ड्राइव आज

Share

उदयपुर (वि)। प्रदेश में बढ़ते कोरोना मामलों एवं कोविड के नए वेरिएंट ओमिक्रोन के संभावित खतरे को देखते हुए चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग सतर्क हो गया है। इस खतरे के बीच राहत भरी खबर यह भी निकल कर आ रही है कि कोविड के इस नए वेरिएंट पर वैक्सीन पूरी तरह प्रभावी है। जिले में चल रहे कोविड टीकाकरण की रफ्तार बढ़ाने एवं शत प्रतिशत लोगों को टीकाकरण का सुरक्षा कवच देने हेतु चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग शनिवार 4 दिसंबर को एक बार फिर से टीकाकरण का महाअभियान शुरू करने जा रहा है। अभियान के बारे में चर्चा करते हुए मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ दिनेश खराड़ी ने बताया कि संभावित तीसरी लहर की आहट को लेकर स्वास्थ्य विभाग पूरी तरह सजग है। संभावित तीसरी लहर को लेकर की जा रही तैयारियों के साथ जिले में चल रहे कोविड टीकाकरण की रफ़्तार को भी बढ़ाया जा रहा है। इस हेतु जिला कलेक्टर चेतन देवड़ा के निर्देशन में शनिवार 4 दिसम्बर को मेगा वैक्सीनेशन ड्राइव का आयोजन किया जा रहा है जिसमें एक लाख से भी अधिक लोगों को टीकाकरण करने का लक्ष्य रखा गया है। अभियान के तहत जिला अस्पताल, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, उप स्वास्थ्य केंद्र से लेकर रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड, सब्जी मंडी सहित सार्वजनिक स्थानों पर भी विभाग की ओर से कोविड वैक्सीनेशन किया जाएगा।

महाअभियान के सफल आयोजन हेतु जिला एवं ब्लाक स्तर पर टीकाकरण से वंचित लोगों की ड्यू लिस्ट तैयार कर ली गई है एवं इस लिस्ट के आधार पर आशा, एएनएम एवं आंगनबाड़ी कार्यकर्ता द्वारा वंचित लोगों से व्यक्तिगत रूप से संपर्क कर टीकाकरण हेतु प्रेरित किया जाएगा। डॉ.खराड़ी ने आमजन से अपील करते हुए कहा कि महामारी बार-बार अपना रूप बदलकर सामने आ रही है और इससे एकमात्र बचाव टीकाकरण को हमें जल्द से जल्द अपनाना चाहिए। टीके की दोनों खुराक लेकर ही हम इस महामारी को मात दे सकते हैं इसलिए जिन व्यक्तियों ने अभी तक टीकाकरण नहीं करवाया है वह जल्द से जल्द टीके की पहली खुराक लेवे एवं दूसरी डोज़ से वंचित लाभार्थी द्वितीय डोज लेकर इस सुरक्षा चक्र को पूरा करें।

बनाए जाएंगे 500 से अधिक टीकाकरण केंद्र

अभियान को लेकर की जा रही तैयारियों के बारे में जानकारी देते हुए जिला प्रजनन एवं शिशु स्वास्थ्य अधिकारी डॉ अशोक आदित्य ने बताया कि 4 दिसंबर को आयोजित होने वाले इस महा अभियान हेतु जिले में 500 से भी अधिक टीकाकरण केंद्र बनाए जाएंगे इसके अलावा स्वास्थ्य विभाग की टीमें गांव -गांव , ढाणियों में घर-घर जाकर भी लोगो को टीका लगाएंगी। आदिवासी बहुल क्षेत्रों एवं दुर्गम इलाकों में टीकाकरण हेतु विशेष रूप से टीका रथ चलाए जाएंगे।  इसके साथ ही लोगों में टीकाकरण के प्रति रुझान बढ़ाने के लिए एनजीओ, समाजसेवी संस्थाओं, जनप्रतिनिधियों के अलावा धार्मिक संस्थाओं से संबंध रखने वाले प्रबुद्ध नागरिकों का भी सहयोग लिया जाएगा।


Share