विवाहित पुत्री को भी मिल सकेगी अनुकम्पा नौकरी, राजस्थान रोडवेज के प्रस्ताव को दी मंजूरी

Married daughter will also get compassionate job, approved the proposal of Rajasthan Roadways
Share

जयपुर (कार्यालय संवाददाता)।  राजस्थान सरकार ने सोमवार को अहम फैसला लिया है। सरकार के बोर्ड या निगम (ऑटोनॉमस बॉडी) में कार्यरत किसी भी महिला या पुरूष कर्मचारी या अधिकारी की नौकरी चले जाने पर उसकी विवाहित पुत्री को अनुकम्पा नौकरी मिल सकेगी। अभी तक इसका प्रावधान नहीं था। सरकार ने यह निर्णय राजस्थान रोडवेज की ओर भेजे गए एक प्रस्ताव के बाद लिया। सरकार के इस निर्णय से अब राजस्थान रोडवेज में ऐसे 35 मामले लम्बित है, जिनको आगामी दिनों में नियुक्ति मिलेगी।

राजस्थान रोडवेज के एमडी संदीप वर्मा ने बताया कि राजस्थान रोडवेज में करीब 35 ऐसे प्रस्ताव लम्बे समय से पेंडिंग थे, जिसमें रोडवेज कर्मचारी की मृत्यु पर उसकी अनुकम्पा नियुक्त उनकी विवाहित पुत्रियों को दी जाए। नियमों में प्रावधान नहीं होने के कारण ये नियुक्तियां लम्बे समय से अटकी पड़ी थी। कुछ समय पहले हमने सरकार को यह प्रस्ताव भेजा था, जिस पर सरकार ने आज मानते हुए विको नियुक्ति देने के आदेश दिए है।

अभी तक इन्हें देते है अनुकम्पा नियुक्त : वर्तमान में बोर्ड व निगमों में कर्मचारी की मृत्यु पर आश्रितों में बेटे, गोद लिए बेटे, अविवहित पुत्री, तलाकशुदा बेटी, विधवा बेटी या पत्नी को ही अनुकम्पा नियुक्ति देने का प्रावधान है। अगर कोई व्यक्ति अविवाहित है तो व्यक्ति के आश्रित भाई, माता या पिता को अनुकम्पा नियुक्ति दी जाती है। लेकिन इस बार सरकार ने विवाहित पुत्री को भी नौकरी देने का निर्णय किया है।


Share