11 साल में पहली बार मार्च सबसे गर्म, चूरू के बाद बांसवाड़ा में गर्मी ने तोड़ा रिकॉर्ड

March is the hottest for the first time in 11 years, after Churu, the heat breaks the record in Banswara
Share

जयपुर (कार्यालय संवाददाता)। राजस्थान, गुजरात समेत पश्चिमी भारत में बने एंटी साइक्लोनिक सर्कुलेशन के कारण प्रदेश में भीषण गर्मी पडऩे लगी है। चूरू का तापमान 43 डिर्गी व बांसवाड़ा का तापमान 42.9 डिर्गी दर्ज किया । गंगानगर में गर्मी का नया रिकॉर्ड बनने के बाद अब बीकानेर में भी रिकॉर्ड टूट गया। बीकानेर में पारा 42.5 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया। 11 साल में मार्च में अब तक का सबसे ज्यादा तापमान रहा है। इससे पहले मार्च तक तापमान 42.3 तक ही पहुंचा था। वहीं बुधवार को भी 20 से ज्यादा शहरों में पारा 40 डिग्री सेल्सियस से ऊपर रहा। जयपुर मौसम केंद्र के मुताबिक एंटी साइक्लोनिक सर्कुलेशन सिस्टम का असर कल से कम होने लगेगा, जिससे तापमान में मामूली गिरावट होने की उम्मीद है। राजधानी जयपुर समेत 20 शहरों में तेज गर्मी और लू से लोग परेशान हैं। पिलानी, गंगानगर, चूरू, बीकानेर समेत कई शहरों में तापमान औसत से 9 डिग्री सेल्सियस तक ऊपर रहने लगा है। बाड़मेर, कोटा, पाली शहरों में दिन के साथ ही रात भी अब तपने लगी है। यहां बीती रात न्यूनतम तापमान 26 डिग्री सेल्सियस से ऊपर ही रहा, जो अमूमन अप्रैल-मई के महीने में रहता है।

मौसम विशेषज्ञों की मानें तो इस बार समय से पहले गर्मी आने के पीछे बड़ा कारण मार्च में वेर्स्टन डिस्टरबेंस का कम होना है। वहीं दो बार ऐसी परिस्थितियां बनीं, जब एंटी साइक्लोनिक सर्कुलेशन सिस्टम एक्टिव हुआ और राजस्थान, गुजरात क्षेत्र में दबाव की स्थिति बनी रही, जिसके चलते तापमान बढ़ा।

2 अप्रैल तक लू का अलर्ट

जयपुर मौसम केंद्र की ओर से जारी पूर्वानुमान में 2 अप्रैल तक राज्य के पश्चिमी क्षेत्र के बीकानेर, बाड़मेर, जैसलमेर, जोधपुर, पाली और पूर्वी राजस्थान के बांसवाड़ा, डूंगरपुर, करौली, धौलपुर, कोटा और बूंदी एरिया में गर्म हवाएं चल सकती है। 5 अप्रैल तक प्रदेश में मौसम साफ रहेगा। हालांकि दिन के तापमान में 1 से 2 डिग्री सेल्सियस तक की गिरावट होने की संभावना है।


Share