मनसुख हिरेन मौत का मामला: ATS करेगी क्राइम सीन को रीक्रिएट

मनसुख हिरेन मौत का मामला: ATS करेगी क्राइम सीन को रीक्रिएट
Share

मनसुख हिरेन मौत का मामला: ATS करेगी क्राइम सीन को रीक्रिएट- एटीएस ने आज रिलायंस के चेयरमैन मुकेश अंबानी के घर के पास मिली लावारिस suv के मालिक मनसुख हिरेन की मौत की जांच के लिए फिर से  क्राइम दृश्य तैयार किया। एंटीलिया के बाहर मिली एसयूवी के मालिक मनसुख हिरेन को 5 मार्च को ठाणे में एक नाले में मृत पाया गया था।

इससे पहले कल एटीएस ने मनसुख की पत्नी, बेटे और सहायक पुलिस निरीक्षक और शिवसेना के पूर्व नेता सचिन वज़े के बयान दर्ज किए, जिनका नाम मामले में सामने आया है।

सचिन को  फिलहाल के लिए क्राइम ब्रांच से हटाया गया है तथा उनको किसी और जगह पर पोस्टिंग दी जाएगी ऐसा इसलिए किया जा रहा है ताकि मनसुख हिरेन की मौत के मामले की निष्पक्ष जांच की जा सके।” इससे पहले उनको मुंबई पुलिस मुख्यालय में अपराध खुफिया इकाई (CIU) से नागरिक सुविधा केंद्र में स्थानांतरित किया गया था।

भाजपा ने की सचिन की गिरफ्तारी की बात

वहीं दूसरी ओर बीजेपी के नेता देवेंद्र फडणवीस ने सचिन वज़े के निलंबिन और गिरफ्तारी की मांग की है। उनको आईपीसी की धारा 301 के तहत गिरफ्तार क्यों नहीं किया जा रहा हैं उनका बचाव कौन कर रहा हैं देवेंद्र ने कहा। इस पर महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे ने कहा कि सचिन कोई ओसामा बिन लादेन नहीं हैं। किसी व्यक्ति को बिना सबूत के निशाना बनाना और फिर उसकी जांच करना सही नहीं है।

क्या हैं पूरी कहानी ?

25 फरवरी को एंटीलिया के बाहर 2.5 किलो वजनी जिलेटिन की छड़ें रखने वाली एक कार एंटीलिया के बाहर खड़ी मिली। वाहन के मालिक को 5 मार्च को ठाणे में एक नाले में मृत पाया गया। मामले की जांच महाराष्ट्र एटीएस द्वारा की जा रही है। वाहन से संबंधित घटना की जांच राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) को सौंप दी गई थी।

अंबानी सुरक्षा मामला

एटीएस ने हिरेन के मोबाइल स्थानों का पता लगाया और उसकी मौत के संभावित कारणों का पता लगा रही है। महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने कहा था कि राज्य एटीएस हत्या के आरोपों के तहत हिरेन की मौत के मामले की जांच कर रही थी।


Share