पश्चिम बंगाल में बड़ा रेल हादसा- पटरी से उतरी गुवाहाटी-बीकानेर एक्सप्रेस, 5 की मौत

पश्चिम बंगाल में बड़ा रेल हादसा- पटरी से उतरी गुवाहाटी-बीकानेर एक्सप्रेस, 5 की मौत
Share

डोमोहानी (एजेंसी)। पश्चिम बंगाल के जलपाईगुड़ी इलाके में गुवाहाटी-बीकानेर एक्सप्रेस पटरी से उतर गई। प्राप्त जानकारी के मुताबिक, इस हादसे में अब तक 5 लोगों की मौत और 20 लोगों के घायल होने की पुष्टि हो चुकी है। बीकानेर से गुवाहाटी जा रही यह ट्रेन हादसा जलपाईगुड़ी के डोमोहानी में शाम करीब पांच बजे हुआ। जानकारी में बताया कि ट्रेन की 12 बोगियां पटरी से उतर गईं, जबकि 4 बोगी पूरी तरह से पलट कर एक दूसरे पर चढ़ गईं। नॉर्थ ईस्ट फ्रंटियर रेलवे की चीफ पीआरओ गुनीत कौर ने कहा कि रेस्क्यू ऑपरेशन लगभग पूरा हो गया है। हमारी टीमों ने सभी प्रभावित यात्रियों को सफलतापूर्वक बचा लिया है।

बीकानेर से गुवाहाटी इस ट्रेन के मैनागुड़ी पार करते समय यह हादसा हुआ। हादसे की सूचना मिलते ही रेलवे के संबंधित अधिकारी मौके पर पहुंच गए और राहत कार्य शुरू करने के निर्देश दिए।  जलपाईगुड़ी की डीएम मोउमिता बसु ने बताया कि हादसे में अब तक 5 लोग जान गंवा चुके हैं। वहीं आसपास के जिलों अलीपुरदुआर, दार्जिलिंग से ऑक्सीजन, एम्बुलेंस मंगाए गए हैं। प्राप्त जानकारी के मुताबिक घायलों को जलपाईगुड़ी जिला अस्पताल और न्यू मोइनागुड़ी जिला अस्पताल में भर्ती किया जा रहा है।

रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने कहा है कि वह शुक्रवार को घटनास्थल का दौरा करेंगे। उन्होंने बताया कि मेडिकल टीमें और वरिष्ठ अधिकारी मौका-ए-वारदात पर मौजूद हैं। रेल मंत्री ने बताया कि प्रधानमंत्री ने भी हादसे की जानकारी ली है। उन्होंने कहा कि राहत और बचाव पर फिलहाल ध्यान केंद्रित किया गया है। साथ ही मुआवजे का ऐलान भी कर दिया गया है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर कहा कि उन्होंने रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव से पश्चिम बंगाल में हुए रेल हादसे की जानकारी ली। प्र.म. ने हादसे में प्रभावित लोगों के प्रति संवेदाएं व्यक्त की और घायलों के जल्द स्वस्थ होने की प्रार्थना की।

रेल मंत्रालय ने हादसे में प्रभावित लोगों के लिए मुआवजे का ऐलान किया है। हादसे में मारे गए लोगों के परिजनों के लिए 5 लाख, गंभीर रूप से घायल लोगों को 1 लाख और मामूली रूप से घायल लोगों को 25 हजार रूपये मुआवजा देने का ऐलान किया गया है।

872 राजस्थानी सवार थे गाड़ी में

बीकानेर से मंगलवार देर रात पौने दो बजे गुवाहाटी के लिए रवाना हुई बीकानेर एक्सप्रेस जलपाईगुड़ी व मैनागुड़ी के बीच पटरी से उतर गई। गाड़ी में राजस्थान के 872 लोग सवार थे। उत्तर पश्चिम रेलवे पीआरओ शशिकिरण के मुताबिक 308 यात्री बीकानेर से और 564 जयपुर से चढ़े थे। ट्रेन में सवार यात्री एक यात्री ने बताया कि करीब पांच बजे न्यू जलपाईगुड़ी स्टेशन निकला ही था कि अचानक से गाड़ी में जोर से धक्का लगा। चीख पुकार मचने लगी। उनका डिब्बा काफी पीछे था, इसलिए पलटा नहीं। संभलने के बाद बाहर देखा तो ट्रेन पटरी से उतर गई थी और एक के ऊपर एक डिब्बे चढ़े हुए थे। चीखने चिल्लाने की आवाजें आ रही थी।

बीकानेर से चढ़े थे 308 यात्री

308 लोग बीकानेर से चढ़े थे, इनमें से 117 यात्री हादसे से पहले के स्टेशनों पर उतर गए थे। हादसे के समय ट्रेन में बीकानेर से चढ़े 191 यात्री सवार थे। अभी ये स्पष्ट नहीं हुआ है कि दुर्घटना में कितने लोगों की मौत हुई है। हादसे में ट्रेन के 12 डिब्बों को नुकसान पहुंचा है। गुवाहाटी में बड़ी संख्या में बीकानेर के लोग रहते हैं। ऐसे में बीकानेर एक्सप्रेस के हर फेरे में यात्रियों की संख्या काफी ज्यादा होती है। बीकानेर से पटना व गुवाहाटी जाने वाले लोग भी इसी गाड़ी में यात्रा करते हैं।

70′ यात्री बीकानेर बेल्ट से

इस गाड़ी में करीब सत्तर फीसदी यात्री बीकानेर, नोखा व नागौर से होते हैं। ज्यादातर लोग बंगाई गांव में रहते हैं। बीकानेर से जाने वाले यात्री इसी गांव की तरफ जाते हैं। इसके अलावा धूमगुड़ी, मैनागुड़ी व दामोली में भी बीकानेर व नोखा के निवासी रहते हैं।


Share