चावंड में पांच करोड़ की लागत से बनेगा महाराणा प्रताप पैनोरमा

चावंड में पांच करोड़ की लागत से बनेगा महाराणा प्रताप पैनोरमा
Share

उदयपुर (वि)। वीर शिरोमणि महाराणा प्रताप की जयंती पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने गुरुवार को मेवाड़ को एक और अनूठी सौगात दी है। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने महाराणा प्रताप की संकटकालीन राजधानी और समाधि स्थल रहे चावंड में लगभग 5 करोड़ रुपये की लागत से महाराणा प्रताप पैनोरमा बनाने की घोषणा की है। मुख्यमंत्री की इस घोषणा के तहत इस पैनोरमा में महाराणा प्रताप के जीवन संघर्ष तथा तत्कालीन मेवाड़ की सभ्यता व संस्कृति का चित्रण किया जाएगा एवं आस-पास के स्थलों को विकसित किया जायेगा जिससे लोग यहां आकर उनके जीवन से प्रेरणा ले सकें। संकटकालीन राजधानी रहे चावंड में महाराणा प्रताप ने अपना लंबा समय व्यतीत किया था। उन्होंने अपने महलों का विकास न करते हुए इस स्थान को आखेट, पहाड़ अधिवास जल संचय, ज्ञान विज्ञान, कला व वाटिका निर्माण की दृष्टि से विकसित किया। इसी प्रकार मेवाड़ के लिए इन दो दिनों में सरकार ने अनूठी सौगात दी है, महाराणा प्रताप जयंती से एक दिन पूर्व 1 जून बुधवार को जिले के गोगुन्दा में स्थित महाराणा प्रताप से संबंधित प्रमुख ऐतिहासिक स्थल मायरा की गुफा (प्रताप शस्त्रागार) के लिए पांच करोड़ चालीस लाख चवालीस हजार रुपये की प्रशासनिक एवं वित्तीय स्वीकृति जारी कर मेवाड़वासियों को बड़ी सौगात प्रदान की गई।


Share