50 घंटे बाद थमा मावठ : कोहरे के बीच सूर्यदेव के दर्शन – दो दिन में उदयपुर शहर में 146 मिमी और झाड़ोल

50 घंटे बाद थमा मावठ : कोहरे के बीच सूर्यदेव के दर्शन - दो दिन में उदयपुर शहर में 146 मिमी और झाड़ोल
Share

उदयपुर. नगर संवाददाता & उदयपुर में लगभग 50 घंटे तक लगातार बरसने के बाद बादल थम गए। गुरुवार सुबह 6 बजे से शुरू हुई बरसात शनिवार सुबह 8.30 बजे पूरी तरह रूकी। इन 50 घंटों में उदयपुर शहर में 146 एमएम यानी 6 इंच से भी ज्यादा बरसात दर्ज की गई। झाड़ोल में सबसे ज्यादा 212 एमएम यानी लगभग 9 इंच बरसात हुई। इसी तरह अलसीगढ़ में 132 एमएम, ओगणा में 143 एमएम, कोटड़ा में 104 एमएम, गोगुंदा में 80 एमएम, उदयसागर में 170 एमएम, वल्लभनगर में 123 एमएम और बागोलिया में 75 एमएम बरसात हुई। उदयपुर जिले में ओवरऑल इतनी बरसात हुई जितने पूरी मानसून सीजन में 48 घंटे में नहीं हुई थी।

शनिवार को जिले में सिर्फ वल्लभनगर में 16 मिमी बरसात हुई। बाकी जिले में बादल छाए रहे।

उदयपुर के करीब नान्देश्वर तालाब, छोटा मदार तालाब और ढूंढिय़ा बांध छलक गए। इधर, चिकलवास फीडर और कैचमेंट में आवक से आयड़ नदी में बहाव तेज रहा। पहले दिन ही छलके उदयसागर में आवक तेज होने से गेट 5-5 फीट तक खोले गए हैं। सिसारमा नदी वेग से बही, जिससे पिछोला झील में आवक तेज हो गई। इधर, छोटा व बड़ा मदार तालाब छलकने के बाद फतहसागर में भी आवक तेज हो गई।

सोमवार को पूरी तरह खुल जाएगा मौसम

बरसात रुकने के बावजूद शनिवार को अब भी उदयपुर में जबरदस्त बादल छाए रहे हैं। पूरे क्षेत्र में कोहरा छाया रहा। मौसम विभाग ने बताया कि रविवार से एक बार फिर मौसम खुलने लगेगा। हालांकि पूरी तरह से धूप सोमवार से ही खिलेगी। ऐसे में सोमवार से एक बार फिर उदयपुर में सुबह का पारा गिरने लगेगा।

उदयसागर, मदार और गोवर्धन सागर भरे

50 घंटे से लगातार हुई जबरदस्त बरसात का असर उदयपुर की झीलों पर भी पड़ा। नवम्बर के महीने में पहली बार उदयसागर झील ओवरफ्लो हो गई। उदयसागर क्षेत्र में इतना पानी बरसा कि इसके गेट 5-5 फीट तक खोलने पड़े। वहीं छोटा मदार और बड़ा मदार तालाब भी छलक गए। इससे फतहसागर झील में आवक शुरू हो गई। फतहसागर का जलस्तर बढ़कर 12.4 फीट हो गया।

इधर सीसारमा नदी में भी पूरे वेग से पानी बह रहा है। जिसके चलते पीछोला झील का जलस्तर 10.7 फीट हो गया है। संभावना है कि नवम्बर के महीने में ये एक बार फिर छलक जाए। इधर शनिवार को बरसात रूकने से सड़कों पर भी चहल-पहल नजर आई। लोगों ने अपने प्रतिष्ठान खोले। दुकानों पर हल्की भीड़ दिखी। वहीं पर्यटन स्थल पर भी लोग नजर आए।


Share