कोहली को 100वें टेस्ट मैच से पहले अपने ‘हीरो’ से मिला सम्मान

भारत के सबसे सफल कप्तान- कोहली
Share

मोहाली (एजेंसी)। भारत के दिग्गज बल्लेबाज विराट कोहला मोहाली में श्रीलंका के खिलाफ अपना 100वां टेस्ट मैच खेल रहे हैं। मैच से पहले हेड कोच राहुल द्रविड़ ने उनका सम्मान करते हुए उन्हें भारतीय कैप दी। इस दौरान उनकी पत्नी और बॉलीवुड अभिनेत्री अनुष्का शर्मा भी उनके साथ दिखीं। बीसीसीआई ने यह वीडियो अपने ऑफिशियल ट्विटर पर शेयर किया।

श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट सीरीज के पहले मैच से पूर्व रन मशीन विराट कोहली का सम्मान किया गया। टीम इंडिया के हेड कोच ने विराट कोहली को कैप सौंपी। इस मौके पर द्रविड़ ने कहा, विराट मुझे पता है कि जब आपने अपना करियर एक युवा के तौर पर शुरू किया था आप इंडिया के लिए एक टेस्ट मैच खेलना चाहते होंगे। आज आप 100वें टेस्ट मैच के लिए यहां हैं। यह सब आपकी मेहनत, परिश्रम और अनुशासन की देन है। इसके लिए आपको और आपके परिवार को शुभकामनाएं।

वहीं विराट कोहली ने यह कैप लेने के बाद कहा, मेरी पत्नी यहां मेरे साथ हैं। मेरे भाई स्टैंड में हैं। मेरे परिवार, मेरे दोस्त, बीसीसीआई सभी का शुक्रिया। आने वाली पीढ़ी मुझसे जो सीख सकती है वह यही कि तीनों फॉर्मेट में खेलना, आईपीएल खेलना। उसके बाद 100वां टेस्ट मैच खेलना जिसके लिए मैं गौरवान्वित महसूस कर रहा हूं।

उन्होंने आगे कहा, यह सम्मान मुझे आप से (राहुल द्रविड़) बेहतर इंसान से नहीं मिल सकता था। आप मेरे बचपन के हीरो हैं। मेरे रूम में आज भी अंडर-15 के दिनों की आपके साथ ली हुई तस्वीर है। आज 100वें टेस्ट की कैप मैं आपसे ले रहा हूं। यह सफर काफी अच्छा रहा और मैं इसके लिए सभी का धन्यवाद अदा करता हूं।

कैसा रहा विराट कोहली का यहां तक का सफर ?

विराट कोहली ने 2011 में वेस्टइंडीज के खिलाफ अपना टेस्ट डेब्यू किया था। इस मुकाबले में उन्होंने 4 और 15 रन बनाए थे। लेकिन पहले टेस्ट मैच में विफल होने के बाद इस दिग्गज बल्लेबाज ने रनों का अंबार लगाना शुरू किया और कभी पीछे मुड़ कर नहीं देखा। वह सबसे लंबे प्रारूप में 50.39 की औसत से 7962 रन बना चुके हैं (मोहाली टेस्ट से पहले)। टेस्ट में उनके नाम 27 शतक भी दर्ज हैं।

बतौर कप्तान भी विराट कोहली ने भारतीय टेस्ट टीम को उंचाईयों पर पहुंचाया है। उन्होंने ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड, न्यूजीलैंड जैसे देशों में भी भारत को जीत दिलाई है। हाल ही में साउथ अफ्रीका के खिलाफ सीरीज हारने के बाद उन्होंने टेस्ट टीम की कप्तानी छोडऩे का फैसला किया था। इससे पहले टी20 की कप्तानी उन्होंने छोड़ी थी और इसके बाद वनडे में बोर्ड ने उनसे कप्तानी ले ली थी।


Share