केरल हाईकोर्ट का फैसला, धीमी लेकिन लापरवाही से गाड़ी चलाना भी अपराध

Kerala High Court verdict Slow but reckless driving is also a crime
Share

कोच्चि (एजेंसी)। अगर आपको लगता है कि आप धीमी रफ्तार में लापरवाही से गाड़ी चलाकर बच जाएंगे तो ये आपकी बड़ी भूल है। केरल हाईकोर्ट  ने अपने आदेश में कहा है कि धीमी रफ्तार के बावजूद लापरवाही से गाड़ी चलाना आईपीसी की धारा 279 के तहत तेज और लापरवाही से गाड़ी चलाने जितना ही बड़ा अपराध है। हाईकोर्ट ने कहा कि सड़क पर वाहन चलाने वाला व्यक्ति उसके परिणाम के लिए जवाबदेह है। सबरीमाला के ट्रेकिंग पथ पर ट्रैक्टर के इस्तेमाल पर हाईकोर्ट ने स्वत: संज्ञान लेते हुए सुनवाई की। हाईकोर्ट ने कहा कि अगर कोई वाहन चालक धीमी लेकिन लापरवाही से गाड़ी चलाता है और दूसरों के लिए हादसे का कारण बनता है तो वह यह कहकर बच नहीं सकता कि उसकी स्पीड कम थी। इस तरह से गाड़ी चलाने वाला व्यक्ति उतना ही दोषी माना जाएगा जितना तेज रफ्तार से गाड़ी चलाने वाले व्यक्ति को दोषी माना जाता है। बता दें कि ओवर स्पीडिंग में गाड़ी चलाने पर अब 1000 रू. का जुर्माना लगाया जाता है जबकि खतरनाक तरीके से गाड़ी चलाने पर 5 हजार रू. का जुर्माना लगाया जाता है।


Share