कटारिया बोले- गहलोत का बैलेंस खत्म हो रहा : कहा-  वो कहते हैं भाजपा नेताओं ने रियाज को छुड़ाने फोन किया, ‘सरकार चला रहे या झक मार रहे’

उदयपुर कांड में नया ट्विस्ट, कांग्रेस का दावा-, 'हत्यारे रियाज के भाजपा कनेक्शन को छिपाने दी गई एनआईए जांच’, पूर्व गृहमंत्री कटारिया के साथ हत्यारे का फोटो जारी किया
Share

जयपुर (कार्यालय संवाददाता)। उदयपुर के कन्हैयालाल तेली टेलर हत्याकांड के आरोपी रियाज अत्तारी के बीजेपी नेताओं और खुद से संबंधों के आरोपों पर नेता प्रतिपक्ष गुलाबचन्द कटारिया ने गहलोत सरकार पर हमला बोला है। कटारिया ने कहा- ऐसा लगता है मुख्यमंत्री गहलोत का इस समय बैलेंस खत्म हो रहा है। वह कहते हैं बीजेपी के किसी नेता ने रियाज को छुड़ाने के लिए फोन कर दिया। सरकार चला रहे हो या झक मार रहे हो। अगर फोन किया है तो उसका नाम उजागर करो और उसके खिलाफ केस दर्ज करो।

डरने की क्या बात है। फोटो तो उनके साथ भी 50 लोग रोज खिंचवाते हैं। कटारिया ने कहा- अभी मैं जहां खड़ा हूँ, मेरे पीछे कितने ही लोग खड़े हैं। इनमें से कोई अपराध कर दे, तो इसका दण्ड मैं थोड़े ही भोग सकता हूं। हो सकता है मेरे भाई ने कोई मर्डर किया, तो मर्डर की सजा मेरा भाई भुगतेगा ना, गुलाबचन्द उसमें किस प्रकार से दोषी है।

कटारिया ने कहा- एनआईए ने जांच करके जो लिंक निकालने की कोशिश की है। वह अभी तक जहां पहुंची और जहां तक पहुंचेगी, उन सब लोगों की कमर तोडऩी चाहिए। इस तरह के एलीमेंट्स जहां से पैदा होते हैं, जो प्रदेश में असंतोष और आपसी विद्वेश का वातावरण बनाते हैं।

वहां तक पहुंचने की सीरीज चालू की गई है। घटना तो उदयपुर में हुई लेकिन इसके लिंक में जितने लोग पकड़े जा रहे हैं। इसका मतलब साफ है कि एनआईए की मौजूदगी निश्चित रूप से इस कांड को खोलने में सफल हुई है। उसे वहां तक जाना चाहिए जहां से इसकी शुरुआत हुई है।

बीजेपी नेताओं ने किए रियाज को छुड़ाने के लिए पुलिस को फोन

दरअसल, उदयपुर हत्याकांड के आरोपी रियाज अत्तारी को एक झगड़े के मामले में बीजेपी नेता की ओर से छुड़ाने के लिए पुलिस को फोन करने की बात कहकर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सियासी खलबली मचा दी है। सोमवार को विपक्ष के राष्ट्रपति उम्मीदवार यशवंत सिन्हा के समर्थन में प्रेस कांफ्रेंस के दौरान गहलोत ने कहा- कन्हैयालाल की हत्या से पहले उदयपुर पुलिस ने रियाज को मकान मालिक के साथ झगड़े के मामले में पकड़ा था।

जब पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार किया, तो भाजपा नेताओं ने उसे छुड़ाने के लिए फोन किए थे। बाद में पता चला कि आरोपी भाजपा का सक्रिय सदस्य है। मुख्यमंत्री ने कहा रियाज के मकान मालिक ने पुलिस में शिकायत की थी कि यह लोग तंग करते हैं, पता नहीं कौन-कौन लोग आते हैं। धमकाते हैं। किराया भी नहीं देते हैं। पुलिस कार्रवाई करती, उससे पहले ही भाजपा नेताओं के फोन आ गए। भाजपा नेताओं ने कहा कि ये हमारा कार्यकर्ता है, इसको तंग मत करो।

कांग्रेस प्रवक्ता शक्ति सिंह गोहिल ने भी शनिवार को प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय में प्रेस वार्ता में आरोप लगाए कि जहां बीजेपी की सरकार होती है, वहां ऐसी घटनाओं की जांच राज्य पुलिस करती है। जहां दूसरी पार्टियों की सरकार होती है, वहां हृढ्ढ्र को जांच सौंपी जाती है। इसी मुद्दे पर मंत्री उदयलाल आंजना ने भी प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय में कुछ दिनों पहले बीजेपी और नेता प्रतिपक्ष गुलाबचन्द कटारिया को टारगेट किया था।

कटारिया और बीजेपी अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ नेताओं के साथ रियाज के फोटो

बीजेपी नेता गुलाबचंद कटारिया के साथ आरोपी रियाज अत्तारी की फोटो पिछले दिनों सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हुई थी। जिसके बाद कांग्रेस नेता पवन खेड़ा ने भी बीजेपी पर आरोप लगाते हुए रियाज को भाजपा का सक्रिय सदस्य बताया था। खेड़ा ने कहा कि रियाज अत्तारी राजस्थान भाजपा के कद्दावर नेता पूर्व गृहमंत्री गुलाबचंद कटारिया के कई कार्यक्रमों में शामिल होता था।

खेड़ा ने बताया कि बीजेपी के अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के नेता इरशाद चैनवाला और भाजपा के मोहम्मद ताहिर के पुराने फेसबुक पोस्ट की स्टडी में पाया गया कि रियाज अत्तारी न केवल कटारिया के साथ कार्यक्रमों में दिखाई दिया, बल्कि बीजेपी नेता उसे पार्टी का कार्यकर्ता भी बता रहे हैं।


Share