बिहार में शाह और नड्डा की संयुक्त बैठक, नेताओं को दिए टास्क

बिहार में शाह और नड्डा की संयुक्त बैठक, नेताओं को दिए टास्क
Share

पटना (एजेंसी)। पटना. भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा और केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने बिहार भाजपा के प्रमुख नेताओं के साथ संयुक्त बैठक ली। बिहार के बीजेपी सांसदों, विधायकों और विधान पार्षदों की बैठक पहले हुई और उसके बाद बिहार भाजपा की कोर कमेटी शाह-नड्डा के साथ बैठी। इन मीटिंगों में दोनों शीर्ष नेताओं ने बिहार में भाजपा को और मजबूत बनाने के लिए कई टास्क सौंपे। साथ ही गुरूमंत्र भी दिए।

2024 के लोकसभा चुनाव के मद्देनजर तैयारियों में जुट जाने को भी कहा। नेताओं से कहा गया कि नेतृत्व विकसित करने के लिए सभी नेता नियमित क्षेत्र भ्रमण करें। क्षेत्र में जाएं तो आम जनता और पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ अवश्य बैठक करें। जनता के सुख-दुख से जुड़ें। केवल अधिकारियों के साथ बैठक करके राजधानी लौट जाने से नेतृत्व विकसित कतई नहीं होगा।

रविवार की शाम करीब छह बजे से पार्टी कार्यालय में अमित शाह और जेपी नड्डा ने पहले डेढ़-पौने दो घंटे सांसदों तथा बिहार विधानमंडल के सदस्यों संग बैठक की। उसके बाद कोर कमेटी भी इससे अधिक देर चली। दोनों बैठकों में शीर्ष नेताओं ने 2019 की तरह 2024 में भी बिहार में एनडीए का प्रदर्शन दोहराने के लिए जुट जाने को कहा। पार्टी की मजबूती के लिए सबको काम करने को कहा गया। घटक दलों के साथ बेहतर समन्वय बनाने की भी बात हुई।

प्रदेश अध्यक्ष डॉक्टर संजय जायसवाल और केंद्रीय गृहराज्यमंत्री नित्यानंद राय और दोनों डिप्टी सीएम तारकिशोर प्रसाद और रेणु देवी दोनों बैठकों में मौजूद रहे। वहीं कोर कमेटी की बैठक में शाह-नड्डा के अलावा केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह व अश्विनी चौबे, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राधामोहन सिंह, पूर्व डिप्टी सीएम सुशील मोदी, मंत्री मंगल पांडेय, शाहनवाज हुसैन, सम्राट चौधरी, पूर्व मंत्री नंदकिशोर यादव व प्रेम समेत कुमार इसके सभी सदस्य मौजूद रहे।

अमित शाह और जेपी नड्डा ने बिहार भाजपा के नेताओं को गठबंधन धर्म निभाने और एकता का भी पाठ पढ़ाया। फालतू बयानबाजी से बचने की भी नसीहत दी। कहा कि रोज-रोज की आपसी प्रतिक्रिया से बचिए। घटक दलों के खिलाफ बयान नहीं देने को भी कहा। आपसी एकता को मजबूत करके रहने का निर्देश दिया।


Share