जेट एयरवेज को फिर उड़ान की इजाजत

Jet Airways allowed to fly again
Share

रॉकेट की तरह भाग रहा कंपनी का शेयर

नई दिल्ली (एजेंसी)। 3 साल बाद एक बार फिर प्राइवेट सेक्टर की जेट एयरवेज एयरलाइन उड़ान भरने को तैयार है। नागरिक उड्डयन महानिदेशालय (डीजीसीए) ने इसकी अनुमति दे दी है। डीजीसीए प्रमुख अरूण कुमार के मुताबिक जेट एयरवेज को एयर ऑपरेटर सर्टिफिकेट (एओसी) दे दिया गया है। यह एयरलाइन को कॉमर्शियल उड़ान संचालन फिर से शुरू करने की अनुमति देता है।

कब से उड़ान की उम्मीद : एयरलाइन की 2022 में जुलाई-सितंबर तिमाही में कॉमर्शियल उड़ान संचालन को फिर से शुरू करने की योजना है। बीते 5 मई को जेट एयरवेज ने पहली बार टेस्ट उड़ान भरी थी। इसके बाद 3 अनिवार्य उड़ान सेवाएं संचालित की गई थीं। इस उड़ान में डीजीसीए के अधिकारी भी शामिल थे। इसी के बाद एयर ऑपरेटर सर्टिफिकेट की अनुमति दी गई है। बता दें कि वित्तीय संकट की वजह से जेट एयरवेज ने अप्रैल 2019 में उड़ान सेवाएं बंद कर दी थी। वर्तमान में जालान-कलरॉक कंसोर्टियम जेट एयरवेज का प्रमोटर है। इस बीच, सप्ताह के आखिरी कारोबारी दिन जेट एयरवेज के शेयर ने एक बार फिर उड़ान भरी। बीएसई इंडेक्स पर शेयर का भाव 113.30 रूपये था, जो एक दिन पहले के मुकाबले करीब 5 फीसदी की तेजी को दर्शाता है। बीते कुछ दिनों के परफॉर्मेंस को देखें तो जेट एयरवेज के शेयर में लगातार तेजी आई है।


Share