दक्षिण : 3 राज्यों में जवाद साइक्लोन की दस्तक

Share

आंध्र-बंगाल में भारी बारिश की चेतावनी, एनडीआरएफ की 42 टीमें तैनात

नई दिल्ली (एजेंसी)। बंगाल की खाड़ी में बने साइक्लोन जवाद के रविवार सुबह ओडिशा और आंध्र प्रदेश के कई तटवर्ती इलाकों से टकराने की आशंका है। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग ने इस दौरान 100 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलने का अनुमान जताया है। तूफान से निपटने के लिए तीनों राज्यों ओडिशा, पश्चिम बंगाल और आंध्र प्रदेश में (नेशनल डिजास्टर रिस्पॉन्स फोर्स) की 46 टीमें तैनात की जा चुकी हैं। वहीं, राज्य सरकारों की तरफ से भी एहतियात बरतने के निर्देश जारी किए गए हैं।

एनडीआरएफ के डॉयरेक्टर जनरल अतुल करवाल ने कहा- जवाद से निपटने के लिए कुल 46 टीमों को ओडिशा, पश्चिम बंगाल और आंध्र प्रदेश भेजा गया है। किसी भी टीम को एयरलिफ्ट करने के लिए भी हम तैयार हैं। 18 और टीमों को स्टैंडबाय पर रखा गया है।

कोणार्क फेस्टिवल रद्द

साइक्लोन जवाद के खतरे को देखते हुए ओडिशा सरकार ने 12वें इंटरनेशनल सैंड आर्ट फेस्टिवल को टालने का फैसला लिया है। यह फेस्टिवल प्रसिद्ध कोणार्क मंदिर के पास आयोजित किया जा रहा था। इसे कोणार्क फेस्टिवल भी कहते हैं। इसमें देशभर के सैंड आर्टिस्ट शामिल होकर तरह-तरह की कलाकृतियां बनाते हैं।

65 ट्रेनें रद्द

चक्रवाती तूफान जवाद की वजह से रेलवे ने आंध्र प्रदेश के विशाखापट्टनम जिले से 3 और 4 दिसंबर को 65 ट्रेनें रद्द कर दी। शुक्रवार को पूर्वी तट रेलवे ने यह जानकारी दी।

ओडिशा के 14 जिलों में अलर्ट

ओडिशा के 14 तटवर्ती जिलों में अलर्ट जारी किया गया है। राज्य ने दक्षिणी तट पर 266 रेस्क्यू टीम तैनात करने की योजना बनाई है। इनमें एनडीआरएफ, स्टेट फायर डिपार्टमेंट और ओडिशा की एसडीआरएफ (स्टेट डिजास्टर रिस्पॉन्स फोर्स) शामिल है। इन जिलों में समुद्र किनारे मछुआरों के मछली पकडऩे पर फिलहाल रोक लगा दी गई है।


Share