Saturday , 18 August 2018
Top Headlines:
Home » Jaipur » ‘विकास के एजेंडे पर चलकर राजस्थान को बनाया हैपनिंग स्टेट’

‘विकास के एजेंडे पर चलकर राजस्थान को बनाया हैपनिंग स्टेट’

rajeमुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने कहा है कि राज्य सरकार के विकास के एजेंडे के कारण आज राजस्थान की ”हैपनिंग स्टेटÓÓ के रूप में पहचान बनी है। राजस्थान को पिछड़ा और बीमारू प्रदेश मानने वाले लोगों को अब अपनी धारणा बदलनी पड़ रही है। उन्होंने कहा कि हमने राजस्थान को आगे बढ़ाने का जो संकल्प लिया है उसके परिणाम आने वाले समय में और अधिक बेहतर ढंग से दिखाई देंगे।
श्रीमती राजे मंगलवार को नई दिल्ली के होटल ताज में टेलीविजन समाचार चैनल आज तक द्वारा राजस्थान पर आयोजित विशेष सत्र को संबोधित कर कर रही थीं। उन्होंने कहा कि राजस्थान किसी एक व्यक्ति का नहीं बल्कि यहां की 7 करोड़ जनता का प्रदेश है। सरकार के सकारात्मक प्रयासों और सबको साथ लेकर चलने के विजन की वजह से आज हमारा प्रदेश पिछड़ा राज्य की श्रेणी से बाहर निकल कर नई संभावनाओं से भरपूर अग्रणी प्रदेश बनकर उभर रहा है।
डिजिटल राजस्थान से आ रही पारदर्शिता
मुख्यमंत्री ने कहा कि राजस्थान देश का पहला प्रदेश है जहां प्रत्यक्ष लाभ हस्तांतरण, महिला सशक्तीकरण व वित्तीय समावेशन की अभिनव भामाशाह योजना को लागू कर महिलाओं को परिवार का मुखिया बनाया गया है। उन्होंने बताया कि हमारी सरकार के पहले कार्यकाल में डिजिटाइजेशन पर सबसे अधिक ध्यान दिया गया था, जिसे वर्तमान कार्यकाल में और अधिक तेजी से लागू किया गया। यही कारण है कि आज हमारा प्रदेश डिजिटल राजस्थान के रूप में भी अपनी पहचान बना चुका है। भामाशाह योजना के कारण व्यक्तिगत लाभ की योजनाओं का संचालन अधिक पारदर्शिता एवं तेजी से संभव हो पा रहा है।
बीपीएल कार्ड बनेगा सुरक्षा कवच
मुख्यमंत्री ने बताया कि राज्य में बीपीएल कार्ड पर कार्डधारकों के स्वास्थ्य संबंधी संपूर्ण जानकारी अंकित की जाएगी। उसे क्या बीमारी है, उसका क्या ब्लड गु्रप है, उसको किस चीज से एलर्जी है, उसे हृदय रोग, डायबिटिज या अन्य कोई बीमारी तो नही है। यदि है तो उस बीमारी का नाम कार्ड पर अंकित किया जाएगा। जिससे दुर्घटना या आपात स्थिति में चिकित्सक उस कार्ड को देखकर उसकी बीमारी के बारे में जान सके और उसका तुंरत इलाज शुरू कर सके। उन्होंने कहा कि भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना के अंतर्गत करीब 1 करोड़ परिवारों को 30 हजार से 3 लाख रूपये की कैशलेस इंडोर उपचार की सुविधा उपलब्ध करवाई जा रही है। पिछले सात माह में 6 लाख लोगों के ऑपरेशन करवाकर उन्हें मदद की गई है।
सेवाओं की ई-डिलीवरी में अग्रणी
श्रीमती राजे ने बताया कि राजस्थान 35 हजार से भी अधिक ई-मित्र सेवा केन्द्रों के नेटवर्क के माध्यम से नागरिक सेवाओं की इलेक्ट्रॉनिक डिलीवरी प्रारंभ करने वाला देश का अग्रणी राज्य बन गया है। उचित मूल्य की 5 हजार से अधिक दुकानों को अन्नपूर्णा भण्डार के रूप में विकसित कर गांव-गांव में रूरल मॉल्स के माध्यम से करीब 150 से अधिक मल्टीब्रांड उत्पाद उपलब्ध करवाए जा रहे हैं।
श्रीमती राजे ने विशेष सत्र के दौरान श्रोताओं द्वारा पूछे गए राजस्थान के विकास, राजनीति सहित विभिन्न विषयों पर पूछे गए सवालों के प्रभावी ढंग से जवाब दिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.