इजरायल-हमास के बीच संघर्ष विराम का ऐलान – 11 दिन तक चली जंग, 232 मौतें हुई

इज़राइल-गाजा लाइव अपडेट्स
Share

तेल अवीव (एजेंसी)।  इजराइल और हमास (इजराइल इसे आतंकी संगठन मानता है) के बीच 11 दिन तक चली जंग के बाद गुरूवार रात (भारतीय समय 2 बजे) सीजफायर की सहमति बन गई है। इजराइल की सरकार और हमास दोनों इसकी पुष्टि कर चुके हैं। सीजफायर का प्रस्ताव इजिप्ट की तरफ से रखा गया था, जिस पर फिलिस्तीन की सरकार भी सहमत है।

हमास के बाद फिलिस्तीन में सबसे ज्यादा ताकतवर आतंकी संगठन इस्लामिक जिहाद ने भी इस फैसले पर अपनी सहमति जताई है। इस सीजफायर को हमास अपनी जीत मान रहा है। फिलिस्तीन के गाजा पट्टी में हमास के लड़ाकों ने ढोल-नगाड़े बजाकर जश्न मनाया तो वहीं वेस्ट बैंक में देर रात तक आतिशबाजी होती रही।

65 बच्चों सहित अब तक 232 की मौत

इजराइल और हमास की जंग में अब तक 232 लोगों की मौत हो चुकी है। इनमें 65 बच्चे शामिल हैं। जंग में अब तक 1900 से ज्यादा लोग घायल हुए हैं। सबसे ज्यादा जान-ओ-माल का नुकसान गाजा पट्टी में हुआ है। यहां करीब 220 लोगों की मौत हुई। यहीं से हमास अब तक इजराइल पर रॉकेट हमले करता रहा है। हमास के हमले में इजराइल के 12 लोगों की मौत हुई है। इसमें 2 बच्चे, 1 सैनिक, 1 भारतीय महिला और थाईलैंड के 2 लोग भी शामिल हैं। हमास ने इजराइल पर कुल 4 हजार 300 रॉकेट दागे हैं।

सीजफायर की कोई शर्त नहीं है : इजराइल

सीजफायर की पुष्टि करते हुए इजराइल की तरफ से एक बयान जारी किया गया। इसमें कहा गया- सुरक्षा मामलों पर कैबिनेट की मीटिंग हुई। इसमें चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ, इंटरनल सिक्योरिटी चीफ और खुफिया एजेंसी मोसाद के चीफ भी शामिल हुए। इसमें इजिप्ट के उस प्रस्ताव पर विचार-विमर्श हुआ, जिसमें हमास के साथ जारी संघर्ष को रोकने का ऑफर दिया गया था। सीजफायर के लिए कोई शर्त नहीं रखी गई है। इस पर दोनों पक्ष सहमत हैं।


Share