1000वें वनडे में जीत के लिए खेलेगा भारत, वे.इ. के खिलाफ पहला वनडे मुकाबला, आज सीधा प्रसारण दोपहर 1.30 बजे से

India will play for victory in 1000th ODI, W.E. first one day match against
Share

अहमदाबाद (एजेंसी)।   भारतीय क्रिकेट टीम के लिए रविवार को यहां नरेंद्र मोदी क्रिकेट स्टेडियम में वेस्ट इंडीज के खिलाफ तीन मैचों की वनडे सीरीज का पहला मैच कई मायनों में बेहद खास होगा। भारत के लिए यह मैच सबसे ज्यादा इसलिए खास है, क्योंकि यह उसका 1000वां वनडे मैच होगा और वह इसे जीत कर इसे और भी खास बनाना चाहेगा।  भारतीय टीम ने अब तक 999 वनडे मैच खेले हैं, जिसमें उसने 518 जीतें और 431 हारे हैं, जबकि 9 मैच टाई और 41 का बेनतीजा रहे हैं। भारत का वनडे में ओवरऑल जीत प्रतिशत 54.54 है।

दूसरी खास बात यह है कि सफेद गेंद टीम के नवनियुक्त कप्तान रोहित शर्मा कल के इस मैच के साथ पूर्ण रूप से सभी वाइट बॉल प्रारूपों में अपनी भूमिका संभालेंगे। उनके सामने हालांकि कड़ी चुनौतियां होंगी, क्योंकि वेस्ट इंडीज की टीम, जो पिछली टी-20 सीरीज में दुनिया की सर्वश्रेष्ठ टीमों में से एक इंग्लैंड को 3-2 से हरा कर आई है और अच्छे फॉर्म में दिख रही है।

रोहित के लिए बतौर कप्तान सबसे बड़ी समस्या टीम में उपयुक्त संयोजन लाना होगा। सबसे पहले बात ओपनर की आती है। दरअसल सलामी बल्लेबाजों शिखर धवन और ऋतुराज गायकवाड़ तथा श्रेयर अय्यर सहित कई भारतीय खिलाड़ी वेस्ट इंडीज के खिलाफ वनडे सीरीज से पहले कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। ऐसे में मयंक अग्रवाल को एमरजेंसी आधार पर वनडे टीम में शामिल किया गया है, लेकिन वह फिलहाल क्वारंटीन में हैं, जबकि उप कप्तान लोकेश राहुल दूसरे वनडे से टीम में जुड़ेंगे, इसलिए अब विकेटकीपर बल्लेबाज ईशान किशन रोहित के साथ पहले वनडे में बतौर ओपनर उतरेंगे।   वहीं वनडे टीम चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव ने भी वापसी की है। इस बाएं हाथ के स्पिनर ने पिछले छह महीनों में किसी भी तरह का प्रतिस्पर्धी क्रिकेट नहीं खेला है, लेकिन भारत को मध्य ओवरों में विकेट लेने के विकल्पों की सख्त जरूरत है और उनके पास ऐसा ही कुछ करने का रिकॉर्ड है। बल्लेबाजी के मोर्चे पर राजस्थान के आक्रामक बल्लेबाज दीपक हुड्डा को भी पहली बार वनडे टीम में शामिल होने का मौका मिला है। अब ऐसा लगता है कि भारत एक ऐसी रणनीति पर वापस जा रहा है जिसने 2017 और 2019 के बीच उसके लिए अच्छा काम किया, जब उन्होंने कुलदीप के साथ युजवेंद्र चहल को खिलाया था और उस समय दोनों गेंदबाजों को बल्लेबाज पढ़ नहीं पा रहे थे। रोहित ने शनिवार को दोनों स्पिनरों युजवेंद्र चहल और कुलदीप यादव का समर्थन करते हुए कहा कि वह वेस्ट इंडीज के खिलाफ वनडे सीरीज में दोनों को फिर से एक साथ लाना चाहते हैं।

नवनियुक्त कप्तान ने बताया कि कलाई के दो स्पिनरों को इसलिए रिलीज कर दिया गया था क्योंकि भारत अलग-अलग संयोजन चाहता था जैसे कि प्लेइंग इलेवन (एकादश) में एक अतिरिक्त बल्लेबाज या गेंदबाज।


Share