ड्रैगन की चालबाजी से निपटने को भारत तैयार – लद्दाख में तैनात किए 15 हजार से ज्यादा जवान

पाक गोलीबारी में 3 जवान शहीद, भारत ने तत्काल लिया बदला
Share

नई दिल्ली (एजेंसी)। सीमा पर चीन की बढ़ती हरकतों को लेकर भारत सतर्क हो चुका है। चीनी सेना को नियंत्रण में रखने के लिए भारत ने पूर्वी लद्दाख स्थित एलएसी पर भारतीय सेना की खास टुकड़ी को तैनात किया गया है। सेना की यह टुकड़ी इससे पहले नॉर्दर्न कमांड एरिया में आतंकी गतिविधियों पर लगाम लगाने के लिए तैनात थी। समाचार एजेंसी एएनआई ने सरकारी सूत्रों के हवाले से बताया है कि 15 हजार सैनिक जो आतंकरोधी अभियानों में लगे थे उन्हें अब चीन सीमा पर तैनात किया गया है।

इस टुकड़ी की तैनाती की बदौलत उत्तरी सीमा पर सेना को विभिन्न ऑपरेशंस के लिए अच्छा संख्या बल मिला। सेना की इस टुकड़ी को पहाड़ी इलाकों में युद्ध के लिए खासतौर पर ट्रेनिंग दी गई है। यह हर साल लद्दाख के ठंडी रेतीले इलाके में वॉर गेम्स आयोजित करती है। पिछले साल चीन से टकराव के बाद इनकी तैनाती सेना के लिए काफी अच्छी रही थी। भारत ने पूर्वी लद्दाख सेक्टर में 50 हजार बलों की तैनाती की है। इसके साथ ही यहां पर सैन्यबलों की संख्या दोगुनी से ज्यादा बढ़ा दी गई है। चीन के साथ तनातनी को देखते हुए लेह 14 कोर की दो डिवीजन के साथ कारू बेस्ड तीन डिवीजन भी तैनात हैं।

इसके अलावा कुछ अतिरिक्त सैन्य बलों को भी इस इलाके में तैनात किया गया है।  पिछले साल अप्रैल-मई के दौरान चीनी सेना पूर्वी लद्दाख के करीब आ गई थी और कई ठिकानों तक पहुंच बना ली थी। इसके बाद भारत सरकार ने भी इसके जवाब में बड़ी संख्या में सैन्य बलों की तैनाती की थी। इसी बीच चीन से टकराव में एक ठिकाने पर गोलीबारी हुई और 20 भारतीय जवान शहीद हो गए। इसके बाद से भारतीय सेना काफी ज्यादा सतर्क हो चुकी है। इसके तहत पूरी लाइन ऑफ कंट्रोल पर अपनी स्थिति को मजबूत किया है।


Share