दूसरे दिन भारत ने खोए 6 विकेट, न्यूजीलैंड के ओपनरों ने हमारे गेंदबाजों को तरसाया

दूसरे दिन भारत ने खोए 6 विकेट, न्यूजीलैंड के ओपनरों ने हमारे गेंदबाजों को तरसाया
Share

कानपुर टेस्ट/दूसरा दिन : (पहली पारी) : भारत 345/10 : न्यूजीलैंड 129/0

भारत की ओर से श्रेयस अय्यर ने लगाया शतक, टिम साउदी ने लिए 5 विकेट

कानपुर (एजेंसी)।  भारत और न्यूजीलैंड के बीच कानपुर में खेले जा रहे पहले टेस्ट के दूसरे दिन का खेल समाप्त होने तक न्यूजीलैंड का स्कोर बिना किसी नुकसान के 129 रन है। कीवी ओपनर विल यंग 75 और टॉम लाथम 50 के स्कोर पर नाबाद हैं। इससे पहले टीम इंडिया अपनी पहली पारी में 345 रनों के स्कोर पर ऑलआउट हुई। न्यूजीलैंड फिलहाल भारत से 216 रन पीछे है। दूसरे दिन भारतीय टीम ने 57 ओवर की गेंदबाजी की, लेकिन एक भी विकेट नहीं चटका सके। र्हृं के दोनों ओपनर ने बहुत ही बढिय़ा बैटिंग कर टीम इंडिया के गेंदबाजों पर दबाव बनाए रखा है।

डीआरएस पर बचे यंग

35वें ओवर की चौथी गेंद पर रवींद्र जडेजा ने विल यंग के खिलाफ एलबीडब्ल्यू की अपील की, जिसे अंपायर ने नॉटआउट दिया। कप्तान रहाणे ने डीआरएस लिया और रिप्ले में गेंद स्टंप की लाइन से बाहर नजर आई। विल यंग को 58 के स्कोर पर जीवनदान मिला और टीम इंडिया ने अपना पहला रिव्यू गंवा दिया।

3 बार डीआरएस पर बचे लाथम

तीसरा ओवर फेंक रहे इशांत शर्मा की तीसरी गेंद पर टॉम लाथम के खिलाफ एलबीडब्ल्यू की अपील हुई और अंपायर नितिन मेनन ने उन्हें आउट करार दिया। लाथम ने ष्ठक्रस् लिया और रिप्ले में साफ नजर आया कि बॉल स्टंप की लाइन से बाहर जा रही थी। टॉम लाथम का रिव्यू लेने का फैसला उनके और कीवी टीम के लिए फायदेमंद रहा। 14वें ओवर की आखिरी गेंद पर रवींद्र जडेजा ने लाथम के खिलाफ एलबीडब्ल्यू की अपील की और एक बार फिर से अंपायर ने कीवी ओपनर को आउट दिया, लेकिन उन्होंने फिर डीआरएस लिया और रिप्ले में नजर आया कि गेंद पहले लाथम के बल्ले पर लगी, उसके बाद पैड पर।

56वें ओवर की आखिरी गेंद पर लाथम के खिलाफ अश्विन की गेंद पर विकेटकीपर कैच की अपील की गई और अंपायर ने फिर से अपना हाथ खड़ा कर दिया। लाथम ने तीसरी बार डीआरएस लिया और रिप्ले में नजर आया कि गेंद कीवी ओपनर के बल्ले से लगी ही नहीं थी और जो आवाज आई थी वो लाथम के बैट और पैड के टच होने की थी। इस तरह टॉम लाथम तीसरी बार ष्ठक्रस् के चलते आउट होने से बचे।

दूसरे दिन कुछ ऐसी रही भारतीय पारी

दूसरे दिन टिम साउदी ने शानदार बॉलिंग करते हुए लंच तक भारत के 4 विकेट चटकाए। उन्होंने रवींद्र जडेजा (50), ऋद्धिमान साहा (1), श्रेयस अय्यर (105) और अक्षर पटेल (3) को आउट किया। आर अश्विन (38) का विकेट एजाज पटेल ने लिया। एजाज ने अपने अगले ही ओवर में इशांत शर्मा (0) को एलबीडब्ल्यू कर भारतीय पारी को समेटा। दूसरे दिन के पहले ही ओवर में न्यूजीलैंड ने जडेजा के खिलाफ एलबीडब्ल्यू की अपील की जिसे अंपायर ने नकार दिया। कीवी टीम ने डीआरएस लिया और रिव्यू में नजर आया कि गेंद स्टंप की लाइन से ऊपर थी और जडेजा नॉटआउट रहे। हालांकि जडेजा इस जीवनदान का फायदा नहीं उठा सके और अगले ही ओवर में साउदी की गेंद पर बोल्ड हो गए। उन्होंने 112 गेंदों पर 50 रन बनाए। भारत का छठा विकेट ऋद्धिमान साहा (1) के रूप में गिरा। आर अश्विन ने 55 गेंदों पर 38 रनों की पारी खेली।

  • इशांत 34वीं बार टेस्ट क्रिकेट में शून्य पर आउट हुए।
  • साउदी ने 13वीं और भारत के खिलाफ तीसरी बार एक पारी में 5 विकेट चटकाए।
  • भारत की पहली पारी में 8 विकेट तेज गेंदबाज और 2 स्पिनर्स ने लिए।
  • साउदी (49) भारत-न्यूजीलैंड सीरीज में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले छठे गेंदबाज बने।

345+ स्कोर के बाद कभी नहीं हारा भारत

टीम इंडिया 345+ का स्कोर बनाने के बाद केवल एक बार घर में हारी है। 1998 में भारत ने बेंगलुरु टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले बल्लेबाजी करते हुए 400 रन बनाए थे। इस टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया ने इंडिया को 8 विकेट से हराया था। 345+ रन बनाने के बाद घर में भारत ने 32 टेस्ट जीते, 37 ड्रॉ हुए और सिर्फ एक टेस्ट हारा है।


Share