‘भारत देख रहा भविष्य की जंग का ट्रेलर’, चीन-पाक पर सेना प्रमुख का इशारा

'India is watching the trailer of the future war', the army chief hints at China-Pakistan
Share

नई दिल्ली (एजेंसी)। सेना प्रमुख जनरल एमएम नरवणे ने चीन और पाकिस्तान की ओर से पेश राष्ट्रीय सुरक्षा चुनौतियों पर गुरूवार को बड़ी बातें कहीं। सेना प्रमुख ने कहा कि भारत अभी भविष्य के संघर्षों की कुछ झलकियां देख रहा है। हमारे विरोधी अपने रणनीतिक लक्ष्यों को हासिल करने के लिए लगातार प्रयास करते रहेंगे।

बिना नाम लिए चीन और पाकिस्तान को घेरा

जनरल नरवणे ने एक ऑनलाइन सेमिनार को संबोधित करते हुए कहा कि भारत अलग तरह की, कठिन तथा बहु-स्तरीय सुरक्षा चुनौतियों का सामना कर रहा है। एमएम नरवणे ने अपने संबोधन में कहा कि उत्तरी सीमा पर घटनाक्रम ने पूरी तरह से तैयार और सक्षम बलों की जरूरत को रेखांकित किया है। चीन और पाकिस्तान का नाम लिए बिना सेना प्रमुख ने कहा कि परमाणु-सक्षम पड़ोसियों के साथ सीमा विवाद, साथ ही राज्य प्रायोजित प्रॉक्सी वॉर ने सुरक्षा तंत्र एवं संसाधनों के सामने चुनौतियां बढ़ा दी हैं।

हमें भविष्य के लिए तैयार रहना होगा : सेना प्रमुख

सेना प्रमुख ने कहा कि हम अभी भविष्य के संघर्षों की झलकियां देख रहे हैं। सूचना के क्षेत्र, नेटवर्क और साइबर स्पेस में भी हमें इसके सबूत दिखाई दे रहे हैं। विवादित सीमाओं पर भी ये सब दिखाई दे रहा है। इन झलकियों के आधार पर हमें भविष्य के लिए तैयार होना होगा। यदि आप आस-पास देखेंगे, तो आपको आज की वास्तविकता का एहसास होगा। नरवणे ने कहा कि उत्तरी सीमा पर ताजा घटनाक्रम देश की संप्रभुता एवं अखंडता को बनाए रखने के लिए आधुनिक तकनीक वाले साजो-सामान से लैस सक्षम बलों की जरूरत को रेखांकित करते हैं।

पूर्वी लद्दाख के गलवान घाटी में जून 2020 में हुई हिंसक सैन्य झड़प की ओर इशारा करते हुए सेना प्रमुख ने कहा, 2020 की घटनाएं इस बात को साबित करती हैं कि किस तरह हर क्षेत्र में हमारी सुरक्षा के लिए खतरा है। इसने नॉन-कॉन्टैक्ट और ग्रे जोन वॉरफेयर को फोकस में लाया है। चीन की तरफ इशारा करते हुए उन्होंने कहा कि कुछ देश वैश्विक स्तर पर मान्य मानकों और नियमों को चुनौती दे रहे हैं।


Share