25 साल से भारत जिम्बाब्वे में वनडे सीरीज नहीं हारा, सिर्फ एक बार टीम इंडिया को मिली है हार

25 साल से भारत जिम्बाब्वे में वनडे सीरीज नहीं हारा, सिर्फ एक बार टीम इंडिया को मिली है हार
Share

हरारे (एजेंसी)। भारत और जिम्बाब्वे के बीच तीन वनडे मैचों की सीरीज 18 अगस्त से शुरू हो रही है। टीम इंडिया 6 साल बाद जिम्बाब्वे में द्विपक्षीय वनडे सीरीज खेलेगी। केएल राहुल की कप्तानी में भारतीय टीम की नजर वहां लगातार पांचवीं सीरीज जीतने पर होगी। राहुल पहले इस दौरे के लिए नहीं चुने गए थे। फिटनेस टेस्ट में पास होने के बाद उन्हें टीम में लिया गया और शिखर धवन की जगह कप्तान बनाया गया। पहले धवन को कप्तान नियुक्त किया गया था।

भारतीय टीम के जिम्बाब्वे दौरे की बात करें तो टीम इंडिया पहली बार 1992 में वहां एक मैच की सीरीज खेली थी। उसने वह मुकाबला अपने नाम कर लिया था। उसके पांच साल बाद जिम्बाब्वे में भारत को पहली बार सीरीज में हार का सामना करना पड़ा था। मेजबान टीम ने दो मैचों की सीरीज को 1-0 से अपने नाम कर लिया था। भारत 1997 के उस सीरीज के बाद से अब तक जिम्बाब्वे में एक भी सीरीज नहीं हारा है। इस दौरान उसने चार बार मेजबान टीम को हराया है।

1998 में भारत टीम तीसरी बार जिम्बाब्वे गई थी। तब उसने तीन मैचों की सीरीज को 2-1 से अपने नाम कर लिया था। इसके बाद भारतीय टीम 2013 में जिम्बाब्वे गई थी। फिर 2015 और 2016 में दौरा किया। अब छह साल बाद वहां टीम इंडिया वनडे सीरीज खेलेगी।

राहुल के लिए खास यह सीरीज

वनडे सीरीज केएल राहुल के लिए इस माह के अंत में होने वाले एशिया कप से पहले ड्रेस रिहर्सल होगी। राहुल जिम्बाब्वे के खिलाफ अनुभवी शिखर धवन के साथ सलामी जोड़ीदार होंगे, ऐसे में युवा बल्लेबाज शुभमन गिल के तीसरे क्रम पर उतरने की संभावना है।

इस साल टी-20 विश्वकप होना है और जहां तक इस प्रारूप की बात है तो शुभमन टीम प्रबंधन की योजनाओं का हिस्सा नहीं है। अगर वह तीसरे क्रम पर उतरेंगे तो यह सुनिश्चित हो सकेगा कि कप्तान राहुल एशिया कप से पहले ज्यादा से ज्यादा समय क्रीज पर बिता सकेंगे। वह फरवरी के बाद पहला मैच खेलेंगे। एशिया कप का आयोजन 27 अगस्त से यूएई में किया जाएगा।


Share