भारत ने एशिया कप से बाहर होकर भी ढूंढ़ लिए 3 सवालों के जवाब, टी-20 वर्ल्ड कप में आएंगे काम

India found answers to 3 questions even after getting out of Asia Cup, it will work in T20 World Cup
Share

नई दिल्ली (एजेंसी)। भारत का लगातार तीसरी बार एशिया कप जीतने का सपना अधूरा रह गया। टूर्नामेंट के ग्रुप-स्टेज में धमाकेदार आगाज करने वाली रोहित शर्मा की टीम इंडिया सुपर-4 में लडख़ड़ा गई और पाकिस्तान-श्रीलंका से लगातार दो मैच हारकर फाइनल की रेस से बाहर हो गई थी। भारत के लिए अच्छी बात यह रही कि उसने टूर्नामेंट का अंत जीत से किया। विराट कोहली ने अफगानिस्तान के खिलाफ धमाकेदार शतक जड़ अपने फॉर्म में लौटने का भी ऐलान कर दिया।

डिफेडिंग चैम्पियन होने के नाते भारत को खिताब जीतने का प्रबल दावेदार माना जा रहा था। लेकिन, टीम इंडिया फाइनल तक नहीं पहुंच पाई। इसकी कई वजहें रही। चाहें डेथ ओवर में गेंदबाजी या मिडिल ऑर्डर में बल्लेबाजी। यह ऐसे पहलू रहे, जिस पर टी20 विश्व कप से पहले काम करने की जरूरत है। इसके लिए भारत के पास सिर्फ 6 टी20 मुकाबले हैं, जो उसे ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ घर में खेलने हैं। सेलेक्टर्स अगले हफ्ते इन दोनों सीरीज के अलावा टी20 विश्व कप के लिए स्क्वॉड चुनेंगे। इसके लिए वो एशिया कप में टीम के प्रदर्शन को भी ध्यान में रखेंगे।

खासतौर पर जो कमियां उभरकर आई हैं, उन्हें दुरूस्त करने पर जोर रहेगा। एशिया कप में भारत को 3 बड़े सवालों के जवाब मिल गए हैं। इससे कम से कम टी20 विश्व कप की टीम फाइनल करने में जरूर मदद मिलेगी। आखिर क्या हैं वो सवाल, जिनके जवाब एशिया कप में भारत को मिले, जिसका फायदा भारत टी20 विश्व कप में उठा सकता है।

हार्दिक पर तीसरे पेसर के रूप में दांव नहीं लगाया जा सकता

हार्दिक पंड्या ने एशिया कप में धमाकेदार आगाज किया था। उन्होंने पाकिस्तान के खिलाफ ओपनिंग मैच में कमाल की गेंदबाजी की थी। उनकी गेंद में रफ्तार और धार दोनों नजर आई थी। उन्होंने अपनी शॉर्ट गेंदों से पाकिस्तानी बल्लेबाजी को तहस-नहस कर दिया था। लेकिन, जब आवेश खान बीमार होने के कारण नहीं खेल पाए और भारत को तीसरे तेज गेंदबाज के रूप में हार्दिक से उम्मीदें थी। तो वो इस भूमिका में खरे नहीं उतर पाए। वो पाकिस्तान और श्रीलंका दोनों के खिलाफ सुपर-4 मुकाबले में महंगे साबित हुए। इसी वजह से भारत 181 और 173 रन का बचाव नहीं कर पाया। हार्दिक ने 8 ओवर में 79 रन दिए और सिर्फ 1 विकेट हासिल किया। जब तब भारत दीपक चाहर को प्लेइंग-इलेवन लाता, तब तक भारत का एशिया कप का सफऱ खत्म हो चुका था।

इसकी पूरी संभावना है कि जसप्रीत बुमराह और हर्षल पटेल ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ घरेलू सीरीज और टी20 विश्व कप के लिए भारतीय टीम में रखेंगे। इसका मतलब हार्दिक फिर से छठे गेंदबाज के अपने पुराने रोल में नजर आएंगे, जिस भूमिका को उन्होंने हमेशा बेहतर तरीके से निभाया है।

टॉप ऑर्डर लय में लौटा

एशिया कप से पहले टॉप ऑर्डर बल्लेबाजी को लेकर भारतीय टीम मैनेजमेंट जरूर परेशान था। रोहित शर्मा बड़ी पारी नहीं खेल पा रहे थे। केएल राहुल ने सर्जरी के बाद जिम्बाब्वे दौरे से कमबैक तो कर लिया था। लेकिन, उनके बल्ले से भी रन नहीं निकल रहे थे। एशिया कप के शुरूआती मुकाबलों में भी वो रनों के लिए संघर्ष करते नजर आए। हालांकि, बाद में उन्होंने जरूर लय हासिल कर ली। रही सही कसर विराट कोहली ने अफगानिस्तान के खिलाफ मैच में शतक ठोककर पूरी कर दी। उन्होंने 83 पारियों के बाद इंटरनेशनल क्रिकेट में शतक ठोका।

रोहित ने भी श्रीलंका के खिलाफ सुपर-4 मैच में 72 रन की पारी खेलकर फॉर्म में लौटने के संकेत दे दिए। इस मैच में 13 रन पर 2 विकेट गंवाने के बावजूद रोहित और सूर्यकुमार यादव ने खेलने का अंदाज नहीं बदला और दोनों ही बल्लेबाजों ने आक्रामक क्रिकेट खेली। हालांकि, इसी टूर्नामेंट में कई बार अटैक की यह रणनीति भारत पर भारी पड़ी। लेकिन, भारत इस अंदाज में आगे भी खेलना जारी रखेगा।

कौन हो सकता है जडेजा का रिप्लेसमेंट?

रवींद्र जडेजा घुटने की चोट के कारण बीच एशिया कप से बाहर हो गए। उनके टी20 विश्व कप में खेलने की उम्मीद भी न के बराबर है। ऐसे में उनकी जगह कौन लेगा, यह सवाल बना हुआ है। एशिया कप में कुछ हद तक भारतीय टीम मैनेजमेंट इसका जवाब ढूंढने में सफल रहा। लेकिन, प्रयोगों ने इसे और उलझा दिया। बीते 1 साल में अक्षर पटेल को ही जडेजा का रिप्लेसमेंट माना जा रहा था। उन्हें मौके भी मिले। लेकिन, एशिया कप में जब अक्षर पर दांव खेलने की बारी है, तो भारतीय टीम अलग ही राह पर निकल पड़ी।

उन्होंने दीपक हुडा को मौका दिया। उन्हें छठे गेंदबाज और मैच फिनिशर की भूमिका निभाने के हिसाब से प्लेइंग-इलेवन में मौका मिला। लेकिन, दीपक ने 3 मैच में एक ओवर ही गेंदबाजी की। वो भी अफगानिस्तान के खिलाफ आखिरी मैच में जब मैच भारत की मुठ्ठी में आ चुका था।


Share