ऐतिहासिक जीत के बाद भारत बना नंबर-1, न्यूजीलैंड दूसरे स्थान पर खिसका

India became number-1 after historic victory
Share

मुंबई टेस्ट में जीत के साथ ही टीम इंडिया टेस्ट क्रिकेट में फिर से की नंबर-1 टीम बन गई है। वहीं, न्यूजीलैंड की टीम दूसरे स्थान पर आ गई है। कीवी टीम ने जून 2021 में भारत से नंबर एक का पोजिशन छीनी थी। भारत और न्यूजीलैंड के बीच मुंबई में खेले गए दूसरे टेस्ट मैच में टीम इंडिया को 372 रनों से जीत मिली है। ये रनों के हिसाब से टेस्ट में भारत की अब तक की सबसे बड़ी जीत है।

भारत और न्यूजीलैंड के बीच जब सीरीज की शुरूआत हुई थी तब न्यूजीलैंड के 126 रेटिंग पॉइंट थे। वहीं, भारत के 119 रेटिंग पॉइंट थे। कानपुर में खेला गया पहला टेस्ट मैच ड्रॉ रहा। इससे रेटिंग में भारत को फायदा और न्यूजीलैंड को नुकसान पहुंचा। मुंबई टेस्ट में हार के बाद न्यूजीलैंड की नंबर वन बने रहने की उम्मीदें भी खत्म हो गईं हैं। भारत साल 2009 में पहली बार टेस्ट की नंबर वन टीम बनी थी। तब टीम इंडिया के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी थे।

वल्र्ड टेस्ट चैंपियनशिप में भारत तीसरे स्थान पर

वहीं, अगर आईसीसी वल्र्ड टेस्ट चैंपियनशिप (डब्ल्यूटीसी) की बात करें, तो भारतीय टीम को ज्यादा फायदा नहीं हुआ है। पहले भी टीम इंडिया तीसरे स्थान पर थी। अब भी विराट की टीम तीसरे स्थान पर ही है। टीम इंडिया का परसेंटेज ऑफ पॉइंट्स 58.33 का है। वहीं, टीम के 42 अंक हैं। भारत ने इस साल वल्र्ड टेस्ट चैंपियनशिप में 3 मैच जीते हैं। वहीं, एक में टीम को हार और 2 मैच ड्रॉ रहे हैं।

42 पॉइंट्स के बावजूद नंबर 3 क्यों है टीम इंडिया?

वल्र्ड टेस्ट चैंपियनशिप में टीम इंडिया के सबसे ज्यादा 42 पॉइंट्स हैं। वहीं, श्रीलंका और पाकिस्तान के 24 पॉइंट्स हैं, लेकिन फिर भी टीम इंडिया दोनों टीमों से नीचे है। ऐसा इसलिए क्योंकि आईसीसी के नियमों के मुताबिक जिस टीम के परसेंटेज ऑफ पॉइंट्स ज्यादा होते हैं वही टीम टॉप पर होती है। श्रीलंका के परसेंटेज ऑफ पॉइंट्स 100 हैं। वहीं, पाकिस्तान के परसेंटेज ऑफ पॉइंट्स 66.66 हैं। इसलिए ये दोनों टीमें भारत से आगे हैं।


Share