बैकफुट पर इमरान तो बाजवा ने संभाली ‘कमान’, बोले- यूएस के पाकिस्तान के साथ शानदार रिश्ते, रूस को दो टूक

Imran on the back foot, Bajwa took over the 'command', said - US has great relations with Pakistan, bluntly to RussiaImran on the back foot, Bajwa took over the 'command', said - US has great relations with Pakistan, bluntly to Russia
Share

इस्लामाबाद (एजेंसी)।  पाकिस्तान में घटनाक्रम तेजी से बदल रहा है। प्रधानमंत्री इमरान खान की सत्ता पर कमजोर होती पकड़ के बीच सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा ने अपनी स्थिति मुखर और स्पष्ट कर दी है। बाजवा ने रूस यूक्रेन वार पर जो बयान दिया है वो इमरान खान और पाकिस्तान की अब तक की नीति से एकदम इतर है। आर्मी चीफ बाजवा ने यूक्रेन पर रूस के हमले को त्रासदी करार दिया है और दो टूक कहा कि इसे तत्काल रोका जाना चाहिए। सुरक्षा और अंतरराष्ट्रीय घटनाक्रम पर आयोजित कार्यक्रम इस्लामाबाद सिक्योरिटी डॉयलॉग में जनरल कमर बाजवा ने कहा कि सुरक्षा को लेकर रूस की वैध  चिंताओं के बावजूद, एक छोटे देश के खिलाफ उसकी आक्रामकता की उपेक्षा नहीं की जा सकती है। बाजवा ने कहा है कि रूस को इस हमले को तत्काल रोकना चाहिए। ।

इमरान से कैसे अलग है बाजवा का रूख : बता दें कि पाकिस्तान आर्मी चीफ बाजवा का ये बयान तब आया है जब हाल में प्र.म. इमरान खान ने कहा है कि अमेरिका उनकी सरकार को गिराने के लिए साजिश रच रहा है। लेकिन जनरल बाजवा का यूक्रेन पर दिया गया ये बयान यूक्रेन पर अमेरिकी स्टैंड की पुष्टि करता है। जनरल बाजवा ने अमेरिका के साथ पाकिस्तान की पुरानी दोस्ती का हवाला देते हुए कहा कि हम अमेरिका के साथ शानदार और रणनीतिक संबंधों का एक लंबा इतिहास साझा करते हैं। बाजवा ने कहा कि हम अमेरिका और चीन के साथ संबंधों को आगे ले जाने के इच्छुक हैं।  बता दें कि आज जो पाकिस्तान यूक्रेन पर रूस के हमले को त्रासदी करार दे रहा है उसकी पाकिस्तान के प्र.म. उस दिन रूस की राजधानी मास्को में राष्ट्रपति पुतिन से मिल रहे थे जिस दिन पुतिन ने यूक्रेन पर हमले का सार्वजनिक ऐलान किया था। इमरान खान के इस कदम को उनकी रूस के साथ संबंधों को बढ़ाने की पहल के तौर पर देखा जा रहा था।

अमेरिका की नाराजगी दूर करने की कोशिश : यही नहीं इमरान ने संयुक्त राष्ट्र में भी पुतिन का साथ दिया और पश्चिमी देशों की मान-मनुहार के बावजूद रूस के खिलाफ मतदान करने से मना कर दिया। देश के नाम संबोधन के दौरान इमरान ने भी माना था कि उसके इस कदम से अमेरिका नाराज हुआ है।

लेकिन अब पाकिस्तान के आर्मी चीफ अपने ही देश के प्रधानमंत्री इमरान खान के स्टैंड से इतर जाते हुए यूक्रेन पर रूस के हमलों की निंदा कर रहे हैं और इसे तत्काल बंद करने की मांग कर रहे हैं। निश्चित रूस से इसे पाकिस्तान के सैन्य प्रतिष्ठान द्वारा अमेरिका के साथ रिश्तों को सुधारने की कोशिश के तौर पर देखा जा रहा है।

भारत से भी रिश्ते सुधारने को इच्छुक बाजवा : पाकिस्तान के आर्मी चीफ जनरल बाजवा ने इस्लामाबाद सिक्योरिटी डॉयलॉग में भारत के साथ भी रिश्तों को सुधारने पर जोर दिया। बाजवा ने कहा कि भारत के साथ सभी विवादों को बातचीत के जरिए शांतिपूर्ण तरीके से सुलझाया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि इस्लामाबाद कश्मीर सहित सभी लंबित मुद्दों को हल करने के लिए कूटनीति का उपयोग करने में विश्वास करता है, ताकि ‘आग की लपटों’ को हमारे क्षेत्र से दूर रखा जा सके। जनरल बाजवा ने कहा कि पाकिस्तान कश्मीर विवाद सहित सभी लंबित मुद्दों को हल करने के लिए बातचीत और कूटनीति में विश्वास रखता है और अगर भारत ऐसा करने के लिए सहमत होता है तो वह इस मोर्चे पर आगे बढऩे के लिए तैयार है।


Share