इमरान खान का अल्टीमेटम- जल्दी चुनाव न हुए तो फिर गृहयुद्ध होगा

कश्मीर पर इमरान का 'चालबाज' बयान- 'भारत एक कदम बढ़े, हम दो कदम चलेंगे'
Share

इस्लामाबाद (एजेंसी)। पाकिस्तान के पूर्व गृहमंत्री शेख राशिद अहमद ने कहा है कि इमरान खान प्र.म. शहबाज शरीफ के साथ मिलने के लिए तैयार हैं। वह जल्द चुनाव कराए जाने को लेकर बातचीत करना चाहते हैं। उन्होंने जानकारी दी है कि पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) पार्टी मई अंत तक इस्लामाबाद की ओर लंबा मार्च निकलेगी और तब तक पीछे नहीं हटेगी जब तक कि चुनाव को लेकर तारीख की घोषणा नहीं हो जाती और ऐसे में गृहयुद्ध के हालात बन सकते हैं। बता दें कि इमरान खान ने हाल ही में मई के अंतिम सप्ताह में इस्लामाबाद की ओर मार्च की घोषणा की थी।

सेना के साथ रही गलतफहमी

राशिद ने आगे कहा है कि वह पीटीआई और सैन्य प्रतिष्ठान के बीच गलतफहमी को दूर करने करने की कोशिश कर रहे हैं। इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि मैं सेना के साथ शांति के पक्ष में हूं और सुलह चाहता हूं लेकिन ‘युद्धÓ की स्थिति में मैं इमरान खान के साथ खड़ा रहूंगा। उन्होंने आगे कहा है कि सेना लोकतंत्र की निरंतरता को बनाए रखना चाहती है और इसे बनाए रखने का एकमात्र तरीका जल्दी चुनाव कराना है। अगर जल्द चुनाव नहीं कराए जाते हैं तो न शहबाज शरीफ की सरकार बचेगी और न ही इमरान सरकार की।

गृहयुद्ध की धमकी? : राशिद ने माना कि इमरान खान के कार्यकाल में कुछ दिक्कतें रही जिसके कारण बलूचिस्तान अवामी पार्टी, मुत्ताहिदा कौमी मूवमेंट और पाकिस्तान मुस्लिम लीग-क्यू जैसे सहयोगी दल हमसे अलग हो गए। उन्होंने बताया है कि इमरान खान इस्लामाबाद में लाखों लोगों को जमा करने जा रहे हैं और ऐसे में देश अनिश्चितता की स्थिति में चला जाएगा जिससे गृहयुद्ध हो सकता है।

राशिद ने कहा कि अगर खान बड़ी संख्या में लोग इस्लामाबाद आते हैं तो इमरान खान की राजनीति राज करेगी। हमारी एकमात्र मांग जल्द चुनाव है। उन्होंने कहा कि हम शहबाज सरकार को गिराना नहीं चाहते हैं लेकिन आम चुनाव की तारीख की घोषणा किए बिना मार्च करने वाले इस्लामाबाद से नहीं लौटेंगे।


Share