इमरान ने खुद ही चुन लिया केयरटेकर प्र.म., पूर्व चीफ जस्टिस गुलजार अहमद को सौंपी कमान

Imran wanted to become a dictator by eliminating the opposition, the minister claims - there was a plan to rule over Pakistan for 15 years
Share

इस्लामाबाद (एजेंसी)। इमरान खान अब पाकिस्तान के प्र.म. नहीं रह गए हैं। रविवार रात को ही पाकिस्तान सरकार की ओर से नोटिफिकेशन जारी कर इस बात की जानकारी दी गई थी। अब खुद इमरान खान ने अपनी जगह एक केयरटेकर प्र.म. का ऐलान कर दिया है। उन्होंने देश के पूर्व चीफ जस्टिस गुलजार अहमद को कार्यवाहक प्र.म. नामित किया है। इमरान की पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ के नेता फवाद हुसैन ने इस बात की जानकारी ट्वीट कर दी है। इमरान खान ने अपने इस फैसले के बारे में राष्ट्रपति आरिफ अल्वी को भी बताया है, जिन्होंने पाकिस्तान की नेशनल असेंबली को भंग किए जाने की सिफारिश की थी।

एक तरफ इमरान खान ने केयरटेकर प्र.म. नामित कर दिया है तो वहीं विपक्षी दलों पर सुप्रीम कोर्ट जाने को लेकर भी सवाल उठाया है। इमरान खान ने कहा कि जब हमने चुनावों का ऐलान कर दिया है तो फिर विपक्ष सुप्रीम कोर्ट में क्या कर रहा है। सोमवार को मीडिया से बात करते हुए इमरान खान ने कहा कि चुनाव में तय हो जाएगा कि किसकी कितनी लोकप्रियता है। इस बीच सुप्रीम कोर्ट में असेंबली भंग करने को लेकर सुनवाई स्थगित हो गई। अब मंगलवार को असेंबली में इस मसले पर चर्चा होगी। हालांकि सुप्रीम कोर्ट का फैसला सरकार के ही पक्ष में आने की उम्मीद जताई जा रही है।

इसकी वजह पाकिस्तान की सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस मुनीब अख्तर की टिप्पणी है, जिसमें उन्होंने कहा कि नियमों के मुताबिक नेशनल असेंबली का स्पीकर सदन को भंग कर सकता है। असेंबली को भंग किए जाने के खिलाफ दायर याचिकाओं की सुनवाई 5 जजों की बेंच कर रही है। गौरतलब है कि इमरान खान के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव विपक्षी दलों की ओर से पेश किया गया था, जिसे असेंबली के डिप्टी स्पीकर ने यह कहते हुए खारिज कर दिया कि किसी विदेशी ताकत की साजिश के आधार पर अविश्वास प्रस्ताव नहीं लिया जा सकता। इसके साथ ही असेंबली को भंग करने का फैसला लिया गया।


Share