आईएमए की केंद्र को सलाह – तीसरी लहर से बचने टीकाकरण ही एकमात्र उपाय

सीरम इंस्टीट्यूट जल्द ही करेगा केंद्र के साथ समझौता
Share

नई दिल्ली (एजेंसी)। भारत में कोरोना की दूसरी लहर का कहर जारी है। रोजाना ढाई लाख से ज्यादा मामले सामने आ रहा है। ऐसे मे इंडियन मेडिकल एसोसिएशन को अब तीसरी लहर की चिंता सताने लगी है। आईएमए के अध्यक्ष डाक्टर जेए जयलाल ने सरकार को मास लेवल पर वैक्सीनेशन की सलाह दी है। उन्होंने कहा है कि इसके लिए केंद्र को अधिक से अधिक टीकों को खरीदना होगा।

आईएमए के अध्यक्ष ने कहा कि आगे इससे बचने का एकमात्र तरीका टीकाकरण है। यदि हम बड़े पैमाने पर टीकाकरण पर जोर नहीं देंगे, तो तीसरी लहर का सामना करना सुरक्षित नहीं होगा। तीसरी लहर से बचने के लिए सामूहिक टीकाकरण करना होगा। इसके लिए केंद्र को अधिकतम टीकों की खरीद करनी होगी और यहां तक कि घर-घर टीकाकरण पर भी विचार करना होगा।

जयलाल ने कहा कि हमें इस प्रक्रिया में तेजी लानी चाहिए और कुछ महीनों के भीतर हमें 60-70 फीसद टीकाकरण के अपने लक्ष्य को पूरा करना हगा। उन्होंने का कि सरकार को वैज्ञानिक प्रमाणों के साथ इस पर विचार करना चाहिए और इस उद्देश्य के साथ सामने आना चाहिए कि जल्द से जल्द देश में सभी लोगों को टीका लग जाए। इससे हम निकट भविष्य में कोरोना मुक्त भारत बना सकेंगे। बता दें कि देश में अबतक कुल वैक्सीनेशन का आंकड़ा 18.58 करोड़ को पार कर गया है।


Share