‘सोचा नहीं था, यहां विमान से उतरूंगा… – पूर्वांचल एक्सप्रेसवे के उद्घाटन पर PM मोदी ने योगी की जमकर की तारीफ

विदेशों में भी हो रही योगी की चर्चा
Share

सुलतानपुर/लखनऊ (एजेंसी)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उत्तर प्रदेश के सुल्तानपुर में 341 किलोमीटर लंबे पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का उद्घाटल किया। इसके बाद एक फिल्म भी दिखाई गई। इससे पहले अपने संबोधन में सीएम योगी ने ‘जय हिंदÓ और ‘जय-जय श्रीरामÓ का नारा लगाया। उद्घाटन समारोह के बाद प्र.म. मोदी ने जनसभा को भी संबोधित किया। प्र.म. मोदी ने कहा कि तीन-चार साल पहले जहां कुछ नहीं था वहां मैंने नहीं सोचा था कि कभी विमान से उतरूंगा। यूपी के विकास के लिए मुख्यमंत्री आदित्यनाथ की जमकर तारीफ करते हुए प्र.म. मोदी ने उन्हें ‘कर्मयोगीÓ बताया और पिछली सरकारों पर भी खूब बरसते हुए परिवारवाद को बढ़ावा देने का आरोप लगाया।

‘सिर्फ परिवार तक सीमित था विकास’

इस दौरान प्र.म. ने विपक्षी पार्टियों पर हमलावर होते हुए कहा कि पहले की सरकारों के लिए विकास वहीं तक था, जहां उनका परिवार था। लेकिन अब की सरकार के लिए पूर्वांचल भी उतना ही जरूरी है। इस एक्सप्रेसवे से पूर्वांचल के साथ बिहार को भी लाभ होगा। इस एक्सप्रेसवे की खासियत यह है कि एक्सप्रेसवे लखनऊ से उन शहरों को जोड़ेगा, जिनमें विकास की असीम संभावना है। इस पर आज योगी जी के नेतृत्व में योगी सरकार ने भले ही 22 हजार करोड़ रूपये से ज्यादा खर्च किए हों लेकिन भविष्य में यह एक्स्प्रेस वे हजारों करोड़ रूपये के निवेश यहां लाने में मदद करेगा।

अखिलेश पर निशाना, बोले- उन्हें मेरे साथ खड़े होने में शर्म आती थी

प्र.म. ने जनसभा के दौरान कहा कि मुझे हैरानी होती थी कि आखिर यूपी को किस बात की सजा दी जा रही है। इसलिए 2014 में जब आप लोगों ने मुझे उत्तर प्रदेश की सेवा का मौका दिया तो मैंने यहां के सांसद के नाते, प्रधानसेवक के नाते जो मेरा कर्तव्य बनता था, उनकी बारिकियों में गया। गरीबों को पक्के घर मिले, महिलाओं को शौच के लिए खुले में न जाना पड़े, घर में बिजली हो…ऐसे कितने ही काम थे जो यहां किए जाने जरूरी थे। लेकिन मुझे बहुत पीड़ा है कि तब यूपी में जो सरकार थी, उसने मेरा साथ नहीं दिया। इतना ही नहीं मेरे साथ में खड़े होने पर भी उन्हें वोट बैंक के नाराज होने का डर लगता था। हवाई अड्डे पर मेरा स्वागत करके वो खो जाते थे, उन्हें इतनी शर्म आती थी क्योंकि काम का हिसाब देने के लिए उनके पास कुछ था ही नहीं।

 


Share