मानसरोवर में हाउसिंग बोर्ड ने बेचा 488 करोड़ का भूखण्ड, राजस्थान के इतिहास की सबसे बड़ी नीलामी

मानसरोवर में हाउसिंग बोर्ड ने बेचा 488 करोड़ का भूखण्ड, राजस्थान के इतिहास की सबसे बड़ी नीलामी
Share

जयपुर (कार्यालय संवाददाता)। कोरोनाकाल के बाद रियल एस्टेट सेक्टर के कारोबार में गिरावट आई है। शहरों में मॉल, कॉम्प्लेक्स में कॉमर्शियल स्पेस खाली हो गए हो, लेकिन अब भी बड़ी-बड़ी कंपनियां जयपुर में इन्वेस्टमेंट करने में दिलचस्पी ले रही है। इसकी बानगी बुधवार को राजस्थान हाउसिंग बोर्ड की एक बड़ी नीलामी में देखने को मिली। इस नीलामी को राजस्थान के इतिहास में अब की सबसे बड़ी नीलामी भी माना जा रहा है। क्योंकि किसी भी सरकारी एजेंसी ने अब तक इतने बड़े राशि का एक सिंगल भूखण्ड कभी नीलाम नहीं किया है। बोर्ड ने बुधवार को जयपुर के मानसरोवर स्थित वीटी रोड पर पड़ी खाली जमीन पर बन रहे सिटी पार्क से लगती करीब 45632 वर्ग मीटर को नीलाम किया है। इस विशालकाय भूखण्ड को पैसेफिक मॉल नाम की कंपनी ने 1 लाख 7 हजार रूपए प्रति वर्गमीटर की उच्चतम बोली लगाकर खरीदा है। इस भूखण्ड के बिकने से बोर्ड को 4882624 रूपए का रेवेन्यू मिलेगा। जानकारों की माने तो राजस्थान में अब तक इतनी बड़ी राशि का एक सिंगल भूखण्ड कभी भी और कहीं भी नहीं बिका है।

दो कंपनियों के बीच चली बिड

हाउसिंग बोर्ड कमीश्नर पवन अरोडा ने बताया कि मानसरोवर के वी.टी. रोड और अरावली मार्ग के बीच स्थित इस जमीन को नीलामी के लिए रखा गया था। इस जमीन की शुरूआती बोली 89500 रूपए प्रति वर्गमीटर से शुरू की थी। नीलामी के दौरान दो कम्पनियों पैसेफिक मॉल और फिनिक्स मॉल के बीच बिड लम्बी चली और आखिर में पैसेफिक मॉल ने 1 लाख 7 हजार रूपए प्रति वर्गमीटर की उच्चतम बोली लगाकर इस भूखण्ड को खरीदा। उन्होंने बताया कि इन दोनों कंपनियों के मुम्बई, दिल्ली, लखनऊ, गाजियाबाद समेत कई शहरों में पहले से ही कई मॉल संचालित है। उन्होंने बताया कि नीलाम किए गए भूखण्ड पर मॉल और मल्टीप्लेक्स के निर्माण की अनुमति दी जा सकती है।

जेडीए का 2012 में बना रिकॉर्ड टूटा

साल 2012 में जयपुर जेडीए ने जयपुर के 22 गोदाम पर 15208 वर्गमीटर का भूखण्ड बेचकर नया रिकॉर्ड बनाया था, लेकिन ये रिकॉर्ड आज 10 साल बाद टूट गया। उस समय ये नीलामी इतिहास में राजस्थान की सबसे बड़ी नीलामी थी। जेडीए ने उस समय भारत पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लि. को तेल डिपो के लिए लीज पर दी जमीन को कब्जे में लेकर ऑक्शन किया था। 15208 वर्गमीटर के इस भूखण्ड के लिए उस समय जेडीए ने न्यूनतम बोली 75 हजार रूपए से शुरू की थी। तब कोलकाता की स्टार कॉमोसेट कम्पनी और गंगानगर के कुछ व्यापारियों ने मिलकर उस जमीन को 1 लाख 54 हजार 950 रूपए की बोली लगाकर खरीदा था, जिससे जेडीए को 235 करोड़ रूपए का रेवेन्यू मिला था।


Share