गृह मंत्री ने अमरनाथ यात्रा की तैयारियों की समीक्षा की

Home Minister reviews preparations for Amarnath Yatra
Share

नई दिल्ली (एजेंसी)। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने मंगलवार को यहां एक उच्चस्तरीय बैठक में अमरनाथ यात्रा की तैयारियों की समीक्षा की।

बैठक में जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल  मनोज सिन्हा, केंद्रीय गृह सचिव, आसूचना ब्यूरो के निदेशक, जम्मू कश्मीर के मुख्य सचिव और केंद्र सरकार के विभिन्न मंत्रालयों तथा विभागों के वरिष्ठ अधिकारियों ने हिस्सा लिया। गृह मंत्री ने अमरनाथ यात्रा की सुरक्षा और यात्रियों के लिए आवश्यक सुविधाओं को लेकर भी अलग से लम्बी बैठक की। इसमें राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने भी हिस्सा लिया।

शाह ने कहा कि अमरनाथ यात्रा में आने वाले यात्रियों को दर्शन सुगम हों और उन्हें किसी समस्या का सामना न करना पड़े ये मोदी सरकार की प्राथमिकता है। उन्होंने अमरनाथ यात्रियों के आवागमन, ठहरने, बिजली, पानी, संचार और स्वास्थ्य समेत सभी आवश्यक सुविधाओं की पर्याप्त व्यवस्था करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि कोविड महामारी के बाद यह पहली यात्रा है और अत्यधिक ऊंचाई के कारण अगर लोगों को किसी तरह की स्वास्थ्य सम्बंधित समस्या हो तो हमें उसके लिए पर्याप्त इंतजाम करने होंगे।

गृह मंत्री ने कहा कि यात्रा मार्ग में बेहतर संचार और किसी भी सूचना के प्रसार के लिए मोबाइल टावर बढ़ाये जाएं, साथ ही भूस्खलन होने की स्थिति में मार्ग तुरंत खोलने के लिए मशीनें तैनात करने के निर्देश भी दिये गये। इसके अलावा पर्याप्त संख्या में ऑक्सीजन सिलेंडर सुनिश्चित करने के साथ ही 6000 फुट से अधिक की ऊंचाई पर पर्याप्त चिकित्सा बेड और किसी भी आपात चिकित्सा स्थिति से निपटने के लिए एम्बुलेन्स तथा हेलीकाप्टर तैनात करने को भी कहा गया। उन्होने कहा कि यात्रियों की सुविधा के लिए अमरनाथ यात्रा के दौरान सभी तरह की परिवहन सेवाएं बढ़ाई जानी चाहिए।

जम्मू कश्मीर के मुख्य सचिव ने बताया कि पहली बार हर अमरनाथ यात्री को एक आरआईएफडी कार्ड दिया जाएगा और पांच लाख रूपये का बीमा करवाया जाएगा। यात्रा के लिए टेंट सिटी, यात्रा मार्ग पर वाईफाई हॉटस्पॉट और समुचित प्रकाश की व्यवस्था की जाएगी। साथ ही बाबा बर्फानी के ऑनलाइन लाइव दर्शन, पवित्र अमरनाथ गुफा में सुबह और शाम की आरती का सीधा प्रसारण और बेस कैंप में धार्मिक व सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा।

पहाड़ी गुफा में स्थित अमरनाथ मंदिर की वार्षिक यात्रा 2020 और 2021 में कोरोना वायरस महामारी के कारण नहीं हो सकी थी। 2019 में, अनुच्छेद 370 को निरस्त करने से ठीक पहले इसे संक्षिप्त कर दिया गया था। यात्रा में लगभग 3 लाख श्रद्धालुओं के भाग लेने की संभावना है और यह यात्रा 11 अगस्त को समाप्त हो सकती है।


Share