ऐतिहासिक रूप से सफल रहा महामंगलकारी अनुष्ठान, सभी ने एक साथ एक स्थान पर बैठकर किया 12 करोड़ मंत्रों का जाप , साध्वी कुमुदलता के आध्यात्मिक रंग में डूबा प्रवासी समाज

Historically successful great auspicious rituals
Share

मुम्बई। साध्वी कुमुदलता, साध्वी महाप्रज्ञा, साध्वी पदमकीर्ति, साध्वी राजकीर्ति के सान्निध्य में गोरेगांव वेस्ट में राष्ट्रीय अनुष्ठान समिति व मेवाड़ संघ मुंबई के तत्वाधान में विश्व शांति एवं भारत की आर्थिक उन्नति के लिए 24 घंटे का महामंगलकारी अनुष्ठान ऐतिहासिक रूप से सफल रहा। अनुष्ठान में 3000 से भी ज्यादा लोगों ने एक साथ एक ही जगह बैठकर भगवान अरिष्ठनेमी व भगवान पार्श्वनाथ के दिव्य प्राचीन मंत्रों की साधना की। गणना के अनुसार 12 करोड से भी ज्यादा मंत्रों का जाप इस कार्यक्रम में किया गया। कार्यक्रम का संचालन अभय सुराणा, हस्तीमल खटोड व मेवाड़ संघ महामंत्री महावीर तातेड़ ने किया ।

1 साल से चल रही थी तैयारी

अनुष्ठान समिति के राष्ट्रीय महामंत्री सुनील बोहरा के अनुसार राष्ट्रीय अध्यक्ष नेमीचंद धाकड़ के नेतृत्व में आयोजन की तैयारियां 1 साल से चल रही थी। मुंबई चातुर्मास की घोषणा के साथ ही मुंबई में अनुष्ठान के आयोजन को लेकर प्रतिमाह अलग-अलग विषयों को लेकर रूबरू व टेली कॉन्फ्रेंसिंग बैठक आयोजित हो रही थी।

Historically successful great auspicious ritualsHistorically successful great auspicious rituals

अध्यात्म से सराबोर दिखे प्रवासी

प्राचीन काल में जैन परंपरा के अनुसार आयोजित इस अनुष्ठान में महासती कुमुदलता के निर्देश अनुसार भाग लेने वाले प्रतिभागियों ने सफेद वस्त्र धारण कर रखे थे। सभी प्रतिभागियों को पांडाल में प्रवेश के दौरान ही एक विशेष किट दिया गया, जिसमें पंचमुखी रुद्राक्ष की माला आसन सहित अनुष्ठान पुस्तिका का समावेश था। सामग्री के साथ विशेष रूप से राहु और केतु के दो यंत्र थे जो चांदी से निर्मित किए गए थे। कार्यक्रम की प्रथम कड़ी में महासती ने विश्व शांति, लंपी बीमारी व व्यक्ति विशेष के जीवन में आने वाले उतार-चढ़ाव सहित पितृ दोष व कालसर्प दोष की शांति के लिए होने वाले इस अनुष्ठान के बारे में विस्तार से जानकारी दी। 24 घंटे के इस अनुष्ठान में महासती कुमुद लता ने स्वयं विभिन्न चरणों में उपस्थित होकर लोगों का उत्साह वर्धन किया और उन्हें निरंतर जाप करते हुए अपनी संख्या को पूर्ण करने की ओर प्रोत्साहित किया। सोमवार सुबह सभी को संकल्प प्रदान कर विशेष यंत्र व संकल्पित औषधि सामग्री की पोटली आशीर्वाद स्वरुप प्रदान की गई।

प्रज्ञाश्री महाराज ने दिलाया संकल्प

साध्वी कुमुद लता महाराज के सानिध्य में तीनों अन्य साध्वियों ने भी अपनी भूमिका का निर्वहन किया। अनुष्ठान की शुरुआत व अंत में साध्वी प्रज्ञाश्री महाराज ने सभी को संकल्प धारण करवाया। साध्वी पदम कीर्ति महाराज ने व्यवस्थाओं का संचालन किया, जबकि साध्वी राज कीर्ति महाराज ने जीवन में हुई विभिन्न भूलों के लिए देव गंधर्व पितरों आदि से क्षमा याचना करवाई। नवयुवक मंडल अध्यक्ष दीपक परमार महामंत्री महावीर मादरेचा टीम के साथ सक्रिय रहे।

Historically successful great auspicious rituals

इंदौर चातुर्मास की रखी प्रार्थना

समिति कोषाध्यक्ष सुनील घूगले ने बताया कि आयोजन में भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय की उपस्थिति रही। उन्होंने इंदौर में चातुर्मास का आग्रह किया। अपनी गायन शैली के लिए मशहूर विजयवर्गीय ने भाषण की जगह कुछ गीतों की पंक्तियों को गाकर पूर्वजों व महासती के प्रति श्रद्धा का इज़हार किया। प्रातः काल संवाददाता के साथ बातचीत में विजयवर्गीय ने कहा कि मेरे जीवन में महासती का बड़ा आशीर्वाद है। जो भी इनके साथ श्रद्धा से जुड़ता है उसके जीवन में क्रांति और शांति का समन्वय स्थापित होता है और व्यक्ति मानवीय मूल्यों पर चलते हुए सही दिशा को प्राप्त करता है।

लाभार्थियों व मेहमानों का हुआ सम्मान

कार्यक्रम में समारोह की शान पदमचंद कांकरिया चैन्नई पारसमल बोहरा चैन्नई इंदरचंद कोठारी कोयंबतूर मितेश बाफना बैगलोर धर्मचंद चौरड़िया इंदौर प्रकाश सिंघवी सूरत सुरेन्द्र कर्णावट महावीर पोखरणा कोयंबटूर पवन खिवेसरा चैन्नई मानमल दरला मैसूर महेंद्र दरला मैसूर किशोर दरला मैसूर पिंटू दरला मैसूर जीवन कोठारी सूरत अनुष्ठान की पूर्णाहुति के मुख्य अतिथि विनोद माडोत व समारोह के श्रृंगार दिनेश छाजेड़, कीर्ति दुग्गड, सोहन कोठीफोडा, मनोहरलाल लोढा पुणे पोपटलाल ओस्तवाल मनीष किरण राका राजेश सुराना राजेश वैदमुथा नरेश लोढा शंकरलाल डांगी लोकेश धाकड़ लक्ष्मीलाल बडाला लक्ष्मीलाल जैन सहित सहयोगी अनुष्ठान गौतम प्रसादी व मुख्य लाभार्थी आशा देवी पारसमल चोरडिया परिवार सगरेव समारोह अध्यक्ष कंकुदेवी राजमल चोरडिया परिवार वाशी समारोह मुख्य अतिथि महावीर डांगी परिवार ठाणे नवकारसी लाभार्थी प्रकाशचंद रुगलेचा परिवार पूना दोपहर हाई टी लाभार्थी बंसत भाई वैद मेहता परिवार गोरेगांव मंडल लाभार्थ शशि सिंघवी परिवार विजय नगर अनुष्ठान किट लाभार्थी एकता महेश डागलिया परिवार नाथद्वारा अनुष्ठान सामग्री लाभार्थी परिवार प्रकाश नाहर गुलाब पुरा हरकबाई लक्ष्मीलाल तातेड सुरावास जीतू हिरण झडोल सुशीला देवी डागलिया नाथद्वारा रोशन लाल बाफना भीगगढ शांता देवी लक्ष्मी लाल बडालमिया भाणुजा अनिल कुमार खिवेसरा अंधेरी संतोष देवी मीठालाल सिंघवी भीलवाड़ा ज्ञानचंद बोकाडिया इंदरमल वडाला गोरेगांव नीता ललित बाबेल का सम्मान मेवाड़ की पंरपरा के साथ किया गया।

नाबेडा को भामाशाह रत्न

सामाजिक क्षेत्र में किए जा रहे उल्लेखनीय कार्य के लिए मेवाड़ भवन गोरेगांव के अध्यक्ष दिलीप नाबेड़ा को महासती की प्रेरणा से भामाशाह रत्न से सम्मानित किया गया। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने नाबेडा को स्मृति चिन्ह भेंट करते हुए उनके द्वारा किए जा रहे कार्यों की प्रशंसा की।

उपस्थित व योगदान

आयोजन को कामयाब बनाने में अनुष्ठान समिति चेयरमैन दीपचंद लूनिया महामंत्री सुनील बोहरा कोषाध्यक्ष संतोष गुगले आदेशवर पार्श्व सेवा ट्रस्ट संरक्षक डॉ दामोदर लढा अध्यक्ष अशोक श्रीश्रीमाल महामंत्री पवन कोटेचा मेवाड़ संघ अध्यक्ष नेमीचंद धाकड संरक्षक चतरलाल लोढ़ा महामंत्री महावीर तातेड़ कोषाध्यक्ष लक्ष्मी लाल बडालमिया मेवाड़ भवन पदाधिकारी न्याय विधि चुनाव समिति पदाधिकारी महिला मंडल पदाधिकारी कन्या मंडल पदाधिकारी स्वास्थ्य समिति पदाधिकारी दिलीप नाबेडा सुरेश आंचलिया भगवती पोखरना शांतिलाल कोठीफोडा कंचन सिंघवी कंचन एल सिंघवी नरेश लोढ़ा विनोद वडाला  संजय सिंयाल मनीष पीपाड़ा कृष्णकांत लोढा गौरव पोखरना देवीलाल वडाला प्रकाश कच्छरा लोकेश कोठारी नरेन्द्र सामर प्रीति नाहर दिव्या लोढा विधि चपलोत मनोज सामर विनोद चपलोत सुभाष सामर हिम्मत कंठालिया हरकलाल लोढ़ा भगवतीलाल लोढ़ा मीठालाल सिंघवी नवरतन सोनी राजेन्द्र चपलोत महेश डागलिया सुनील कोठारी हस्तीमल संचेती पारस चोरडिया पारस बाफना प्रकाश नाहर प्रकाश मादरेचा फूलचंद नाहर अशोक सोनी सुरेश चोरडिया श्याम सिंघवी महेंद्र चंडालिया महेंद्र मारू मोहन लोढ़ा सुरेश सिंघवी विजय कोठारी निर्मल खिवेसरा गौरव पोखरना नरेश लोढ़ा विनोद चपलोत मनोज सामर सुभाष सामर प्रवीण सिंघवी हिम्मत खरवड़ दिनेश विसलोत मनोहर चपलोत राजू सोलंकी बाबूलाल चोरड़िया मनीषा सांखला ललित कागरेचा पुष्कर आंचलिया नेमिचंद इंटोदिया रमेश इटोदिया गणेश वडाला नवल सिंह सुराणा आदि उपस्थित रहे।


Share