टीकाकरण का ऐतिहासिक पड़ाव – 100 करोड़ डोज पूरे होने पर पूरे देश में जश्न

जेड+ जैसी सुरक्षा के बीच यह वैक्सीन दिल्ली पहुंची
Share

  • केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने कोविड वॉर रूम में स्टाफ से बात की और मिठाई खिलाकर उन्हें बधाई दी है।
  • मांडविया ने एक थीम सॉन्ग और फिल्म भी लॉन्च की है। ये कार्यक्रम लाल किले पर हुआ। इस गाने में कैलाश खेर ने आवाज दी है। इसके साथ ही 1400 किलो वजन का देश का सबसे बड़ा तिरंगा भी लगाया गया।

अब तक कैसी रही वैक्सीनेशन की रफ्तार?

देश में 16 जनवरी से वैक्सीनेशन अभियान की शुरूआत हुई। शुरूआती 20 करोड़ वैक्सीन डोज 131 दिन में लगे। अगले 20 करोड़ डोज 52 दिन में दिए गए। 40 से 60 करोड़ डोज देने में 39 दिन लगे। 60 करोड़ से 80 करोड़ डोज देने में सबसे कम, महज 24 दिन लगे। अब 80 करोड़ से 100 करोड़ होने में 31 दिन लगे हैं। यानी अब रफ्तार कम हो गई है। अगर इसी रफ्तार से वैक्सीनेशन होता रहा तो देश में 216 करोड़ वैक्सीन डोज लगने में करीब 175 दिन और लगेंगे। यानी, 5 अप्रैल 2022 के आसपास ये आंकड़ा हम पार कर सकते हैं।

मास्क फ्री होने के लिए अभी करना होगा इंतजार

हमने भले ही 100 करोड़ डोज लगाने के करीब हैं, लेकिन देश की महज 20′ आबादी ही पूरी तरह वैक्सीनेट हुई है। 29′ आबादी को वैक्सीन की एक डोज दी जा चुकी है। ऐसे में मास्क फ्री होने के लिए हमें अभी इंतजार करना होगा। महामारी एक्सपर्ट डॉक्टर चंद्रकांत लहारिया कहते हैं कि जब तक 85′ आबादी पूरी तरह वैक्सीनेट नहीं हो जाती तब तक ऐसा करना खतरनाक हो सकता है। जिन देशों में मास्क से छूट दी गई है वहां जनसंख्या घनत्व भारत की तुलना में काफी कम है। ऐसे में हमें अपनी जरूरतों को हिसाब से ही फैसला लेना चाहिए।

एक रिपोर्ट के मुताबिक जनवरी तक देश की 60 से 70′ आबादी पूरी तरह वैक्सीनेटेड हो जाएगी। इस वक्त तक भारत हर्ड इम्यूनिटी को अचीव कर लेगा। इसके बाद लोगों को मास्क नहीं लगाने की पूरी तरह छूट मिल सकती है। कुल मिलाकर ये कहा जा सकता है कि मास्क से पूरी तरह से आजादी के लिए हमें अभी कम से कम 6 से 8 महीने और इंतजार करना होगा।


Share