फर्जी ‘को-विन’ पर स्वास्थ्य मंत्री की चेतावनी

फर्जी 'को-विन' पर स्वास्थ्य मंत्री की चेतावनी
Share

नई दिल्ली (एजेंसी)। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने लोगों को ‘को-विन’ नाम के किसी मोबाइल एप को ‘डाउनलोड’ करने और उन पर सूचना साझा करने के खिलाफ आगाह किया। दरअसल, शरारती तत्वों ने ‘को-विन’ से मिलते जुलते एप बनाए हैं और उनके नाम कोविड-19 टीकाकरण के लिए सरकार के आगामी आधिकारिक एप से मिलते-जुलते रखे हैं। हर्षवर्धन ने ट्वीट किया, सरकार के आगामी आधिकारिक मंच से मिलते-जुलते नाम वाले कुछ एप शरारती तत्वों ने बनाए हैं, जो एपस्टोर्स पर हैं। उन (एप) को डाउनलोड या उन पर व्यक्तिगत जानकारी साझा नहीं करें। एमओएचएफडब्ल्यू (स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय) का अधिकारिक मंच (सरकार से मंजूरी प्राप्त) एप आने पर उसे उपयुक्त रूप से प्रकाशित करेगा।

टीके की निगरानी का मंच है को-विन

‘को-विन’ (कोविड वैक्सीन इंटेलीजेंस नेटवर्क) एप, एक डिजिटल मंच है, जिसे केंद्र द्वारा कोविड-19 टीके की आपूर्ति एवं वितरण की वास्तविक समय पर निगरानी के लिए बनाया गया है। यह क्रियान्वयन के लिए तकरीबन अपने अंतिम चरण में है और ‘गूगल प्ले’ स्टोर या किसी अन्य एप स्टोर पर अभी उपलब्ध नहीं कराया गया है।

को-विन, फ्री मोबाइल एप : मंत्रालय ने कहा कि इस बीच, राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों ने स्वास्थ्य सेवाओं और अग्रिम मोर्चे के कर्मियों के आंकड़े एकत्र किये हैं। इन लोगों को प्रथम प्राथमिकता के तहत कोविड-19 का टीका लगाया जाएगा। आंकड़े को-विन सॉफ्टवेयर पर अपलोड किये जा रहे हैं। मंत्रालय ने इससे पहले प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा था कि को-विन डिजिटल मंच में डाउनलोड किये जाने योग्य एक मुफ्त मोबाइल एप होगा, जो टीके से जुड़े आंकड़े दर्ज करने में मदद करेगा।


Share