राजस्थान विधानसभा : मंत्रियों ने इशारों में अपनों पर ही चलाए तीर, स्वास्थ्य मंत्री ने पूर्व मंत्री के फैसलों पर उठाए सवाल, परसादी बोले- ‘किसी की भी एप्रोच नहीं मानूंगा, मंत्री रहूं या नहीं’

Share

जयपुर (कार्यालय संवाददाता)। स्वास्थ्य मंत्री परसादी लाल मीणा ने विधानसभा में दो टूक कहा कि स्वास्थ्य विभाग में डेपुटेशन का खेल करके ही रहूंगा। किसी की एप्रोच नहीं मानूंगा। यह बड़ी विडंबना है कि चिकित्सक एवं नर्स होते हुए भी अस्पताल खाली पड़े हैं। सरकार चाहती है कि डॉक्टर की जहां पोस्टिंग है वहां जाकर काम करें। इस मामले में किसी विधायक या फिर किसी मंत्री को एप्रोच करने से बचना चाहिए। क्योंकि मैं किसी की एप्रोच नहीं मानूंगा। स्वास्थ्य मंत्री ने विधानसभा में हाथ जोड़े और सभी विधायकों एव मंत्रियों से एप्रोच नहीं करने का अनुरोध किया। विधानसभा में स्वास्थ्य विभाग की अनुदान मांगों पर बहस का जवाब देते हुए यह बात कही। उन्होंने अपने ही विभाग के पूर्व मंत्री रघु शर्मा पर भी सदन में इशारों ही  इशारों में निशाना साधा।

मंत्री रहने की चिंता नहीं, अपना झोला उठाकर चल दूंगा

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि निरोगी राजस्थान के लिए राज्य सरकार कृतसंकल्प है। कोई भी डॉक्टर, नर्सिंग स्टाफ डेपुटेशन नहीं रहे। हम सभी का सरलीकरण करेंगे। जहां आवश्यकता नहीं है, वहां भी डॉक्टर और नर्स लगा रखे हैं। पर्याप्त संख्या होते हुए भी कई जिलों में अस्पताल खाली पड़े हैं। यह सब नहीं चलेगा। मैं स्वास्थ्य मंत्री रहूं या नहीं मुझे इसकी चिंता नहीं हैं। मैं जाति से मीणा हूं। अपना झोला उठाकर चल दूंगा। लेकिन डेपटेशन सिस्टम को खत्म करके ही रहूंगा। उन्होंने कहा कि यदि किसी अधिकारी ने उनके आदेशों की पालना नहीं की तो उनके खिलाफ वे कार्यवाही करेंगे। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि  कोई सीएमएचओ, ब्लॉक सीएमएचओ, संभागीय अधिकारी बिना सरकार की जानकारी के किसी डॉक्टर, जीएनएम, एएनएम का डेपुटेशन अपनी मर्जी से करेगा तो 16 सीसी की चार्जशीट दी जाएगी।


Share