हरियाणा कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष शैलजा मुख्यमंत्री गहलोत से मिली – सियासी मंत्रणा कर सुबह दिल्ली लौटीं

सीएम गहलोत ने किया राज्यस्तरीय अभियान का शुभारंभ
Share

जयपुर (कार्यालय संवाददाता)। राजस्थान कांग्रेस प्रभारी अजय माकन के तीन दिन के फीडबैक के बाद दिल्ली से लेकर जयपुर तक सियासी हलचलें बढ़ गई हैं। बदलाव का खाका तैयार है। जिसे लागू करने के लिए तैयार फार्मूले पर हाईकमान ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को अवगत करवा दिया है। रविवार रात हरियाणा कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष कुमारी शैलजा ने अचानक जयपुर पहुंचकर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से लंबी सियासी मंत्रणा की है। कुमारी शैलजा सुबह जल्दी वापस दिल्ली लौट गईं।

कुमारी शैलजा की सीएम से लंबी मुलाकात को राजस्थान में होने वाले फेरबदल से ही जोड़कर देखा जा रहा है। रविवार को दिल्ली में प्रभारी अजय माकन ने राजस्थान के मसले पर राहुल गांधी से चर्चा की। इसके बाद देर शाम कुमारी शैलजा जयपुर पहुंचकर गहलोत से मिलीं। बताया जा रहा है कि शैलजा हाईकमान के कहने पर ही गहलोत से मिली हैं। राजस्थान में होने वाले संभावित बदलावों को लेकर गहलोत कुछ मामलों में असहमत हैं। शैलजा को उसी मिशन पर भेजने की बात सामने आ रही है। शैलजा सोनिया गांधी की विश्वासपात्र हैं। इस मुलाकात को लेकर कोई बयान नहीं आया है। ऐसे में सियासी अटकलें तेज हैं।

मंत्रियों को हटाने और पायलट खेमे को जगह देने पर सहमति की कवायद

राजस्थान में अशोक गहलोत और सचिन पायलट खेमों में खींचतान मिटाने के लिए कांग्रेस हाईकमान मंत्रिमंडल फेरबदल से लेकर संगठनात्मक बदलाव की तैयारी में है। गहलोत फेरबदल की जगह विस्तार का सुझाव दे रहे हैं, लेकिन इस बार हाईकमान के पास मंत्रियों की शिकायतों और उनसे होने वाले राजनीतिक नुकसान की पुख्ता रिपोर्ट है। कई मंत्रियों को हटाने की चर्चाएं हैं। गहलोत विधायकों की नाराजगी का तर्क देकर फेरबदल की जगह विस्तार की बात कह रहे हैं।

शैलजा गहलोत समर्थक, विस चुनाव में स्क्रीनिंग कमेटी की अध्यक्ष रह चुकीं

कुमारी शैलजा को अशोक गहलोत समर्थक माना जाता है। पिछले विधानसभा चुनावों में टिकट तय करने के लिए बनी स्क्रीनिंग कमेटी की अध्यक्ष थीं। इससे पहले वे राजस्थान प्रभारी की जिम्मेदारी भी संभाल चुकी हैं। शैलजा ने अपनी तरफ से जयपुर दौरे को गोपनीय रखने का प्रयास किया था। एयरपोर्ट से सीएम हाउस तक जाने के लिए गाडिय़ां तक हरियाणा से आई थी।


Share