सरकार का बड़ा बयान: कहा- ‘देश अभी भी दूसरी लहर का सामना कर रहा, यह अभी तक खत्म नहीं हुई’

केरल-महाराष्ट्र में कोरोना के 70% एक्टिव केस
Share

नई दिल्ली (एजेंसी)। देश में कोरोना के घटते-बढ़ते मामलों के बीच केंद्र सरकार ने महामारी की दूसरी लहर पर बड़ा बयान दिया है। सरकार का मानना है कि देश अभी भी कोरोना की दूसरी लहर का सामना कर रहा है। महामारी की दूसरी लहर अब भी जारी है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने गुरूवार को देश में कोरोना के हाल को लेकर प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि देश में पिछले 24 घंटे में 43,263 मामले दर्ज किए गए हैं। केरल में 32 हजार से भी ज्यादा मामले सामने आए हैं। देश में पिछले हफ्ते आए कुल संक्रमितों के 68 फीसदी मामले केरल में ही रिपोर्ट किए गए थे।

केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने बताया कि कोरोना की पहली लहर के दौरान मामलों में गिरावट की दर 50 फीसदी थी, जो इस लहर में इससे थोड़ी कम है। हम अभी भी मामलों में उछाल देख रहे हैं, यह बढ़ोतरी अभी खत्म नहीं हुई है। उन्होंने बताया कि  देश के 35 जिलों में अभी भी कोरोना की साप्ताहिक संक्रमण दर 10 फीसदी से ज्यादा है। वहीं, 30 जिले ऐसे हैं, जिनमें साप्ताहिक संक्रमण दर 5 से 10 फीसद के बीच है। उन्होंने बताया कि देश के कुल सक्रिय मामलों के 61 फीसदी केस केरल और 13 फीसदी केस महाराष्ट्र में हैं। कर्नाटक, तमिलनाडु और आंध्र प्रदेश में 10 हजार से ज्यादा और 50 हजार से कम सक्रिय मामले हैं।

टीकाकरण की रफ्तार बढ़ाने की जरूरत

टीकाकरण पर जोर देते हुए केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव ने कहा कि आने वाले त्योहारों के दिनों से पहले हमें टीकाकरण की रफ्तार को और बढ़ाना होगा। हमने देश में अब तक वैक्सीन की 72 करोड़ डोज लगा दी हैं। मई में हम औसतन 20 लाख टीके प्रतिदिन लगाते थे, आज सितंबर में हम 78 लाख टीके प्रतिदिन औसतन लगा रहे हैं।

त्योहारों को लेकर भी सतर्क किया

इस बीच आईसीएमआर के डॉ. बलराम भार्गव ने बताया कि त्योहारों को मनाने के दौरान सावधानियां बरतनी बेहद जरूरी हैं। सभी को भीड़ से बचना होगा। समारोह जितना सीमित होगा, संक्रमण उतना ही कम फैलेगा। उन्होंने यह भी कहा कि बहुत जरूरी होने पर ही लोग यात्रा करें। गैर-जरूरी यात्रा करने से लोगों को बचना होगा।

18 वर्ष से अधिक उम्र के 58 फीसदी लोगों को पहली डोज दी गई

वहीं, नीति आयोग के सदस्य (स्वास्थ्य) डॉ. वीके पॉल ने बताया कि अब तक 18 वर्ष से अधिक उम्र के 58 फीसदी लोगों को कोविड वैक्सीन की पहली डोज लग चुकी है, इनमें 18 फीसदी लोगों ने कोविड वैक्सीन की दूसरी डोज भी लगवा ली है।

उन्होंने बताया कि हम सक्रिय रूप से बच्चों पर वैक्सीन के संभावित इस्तेमाल की वैज्ञानिक पुष्टि की दिशा में काम कर रहे हैं। बच्चों में संभावित इस्तेमाल के लिए एक वैक्सीन उपलब्ध हुई है। स्कूल खोलने के लिए बच्चों को वैक्सीन लगे ये मापदंड दुनिया में कोई नहीं मानता।


Share