गोरखनाथ मंदिर हमला, आरोपी मुर्तजा को 14 दिन की जेल

Gorakhnath temple attack, accused Murtaza jailed for 14 days
Share

गोरखपुर (एजेंसी)। गोरखपुर में गोरखनाथ मंदिर के बाहर पीएसी के दो जवानों पर धारदार हथियार से हमला करने वाले आरोपी मुर्तजा को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा गया है। बता दें कि गोरखपुर के गोरखनाथ मंदिर के दक्षिणी द्वार पर रविवार शाम एक युवक ने धार्मिक नारे लगाते हुए मंदिर में प्रवेश करने की कोशिश की और सुरक्षा में तैनात पीएसी के दो आरक्षियों को धारदार हथियार से घायल कर दिया। सुरक्षाकर्मियों द्वारा पकडऩे की कोशिश में वह व्यक्ति भी घायल हो गया। गोरखनाथ मंदिर नाथ संप्रदाय की सर्वोच्च पीठ है और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ इस पीठ के महंत हैं।

हमलावार का नाम अहमद मुर्तुजा अब्बासी है और वह सिविल लाइंस में गोरखपुर का रहने वाला बताया जा रहा है। हाल ही में वह मुंबई से आया था। पहले उसकी मानसिक स्थिति ठीक नहीं होने की बात कही जा रही थी। अब उसके बारे में जो जानकारी निकल कर सामने आ रही है, वह चौंकाने वाली है। मुर्तुजा अब्बासी ने आईआईटी बॉम्बे से केमिकल इंजीनियरिंग की पढ़ाई की है।

लखनऊ में अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी और अपर पुलिस महानिदेशक प्रशांत कुमार ने सोमवार को पत्रकार वार्ता में जानकारी दी कि हमलावर व्यक्ति (मुर्तजा) आतंकी घटना को अंजाम देने के लिए बदनीयती से मंदिर परिसर में घुसने का प्रयास कर रहा था, जिसे पीएसी एवं पुलिस के जवानों ने नाकाम कर दिया। अधिकारियों ने कहा कि इस घटना में हमलावर ने पीएसी के दो जवानों को गंभीर रूप से घायल कर दिया। अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस घटना की विवेचना यूपी एटीएस को सौंपे जाने का निर्देश दिया गया है। उन्होंने बताया कि यूपी एटीएस व यूपी एसटीएफ दोनों एजेंसियों को घटना का खुलासा करने के लिए संयुक्त रूप से कार्य करने का भी निर्देश दिया गया है साथ दोनों एजेंसियों के वरिष्ठ अधिकारी गोरखपुर पहुंच चुके हैं।

‘किसी को नहीं छोड़ेंगे’

प्रशांत कुमार ने कहा कि मुर्तजा ने धार्मिक नारे लगा, उसने अल्लाह हूं अकबर के नारे लगा। अब मामले को साफ तौर पर आतंकी साजिश से जोड़कर देखा जा रहा है। मामले की जांच अभी शुरूआती दौर में है लेकिन विस्तृत तौर पर की जा रही है। आरोपी मुर्तजा और उसके परिवार के लोगों से भी पूछताछ की जा रही है। एडीजी ने इस दौरान सख्त लहजे में कहा कि आरोपी और उससे जुड़े किसी भी व्यक्ति को छोड़ा नहीं जाएगा।

वहीं मुख्यमंत्री ने घायल जवानों को 5 लाख रूपये इनाम की घोषणा की है। अवनीश अवस्थी ने कहा कि दोनों जवानों ने बहादुरी दिखाते हुए एक बड़े हमले को रोका है। मुख्यमंत्री ने घायल जवानों को पांच-पांच लाख रूपये इनाम की घोषणा की है। साथ ही मामले की गहनता से जांच करने के निर्देश दिए है। इस मामले की जांच फिलहाल एटीएस को सौंपी गई है। अगर जरूरत पड़ी तो और भी जांच एजेंसियों का सहयोग लिया जा सकता है।


Share