गोगुन्दा : महिला की हत्या कर शव फैंकने में पति गिरफ्तार, आत्महत्या की फिराक में था आरोपी

गोगुन्दा : महिला की हत्या कर शव फैंकने में पति गिरफ्तार, आत्महत्या की फिराक में था आरोपी
Share

उदयपुर. नगर संवाददाता & जिले के गोगुन्दा थाना क्षेत्र में गत दिनों महिला की हत्या कर शव को फैंकने के मामले में पुलिस ने मृतका के पति को ही गिरफ्तार किया है। आरोपी पति अपनी पत्नी से इतना परेशान हो गया था कि उसने अपनी पत्नी की हत्या कर शव को फैंक दिया था। आरोपी खुद आत्महत्या करने के फिराक में था और यदि पुलिस नहीं पकड़ती तो आत्महत्या करने वाला था। मृतका के कई लोगों से संबंध थे और घर में भी अपने पति और सास-ससुर से विवाद करती थी। इसी कारण वह परेशान था और पत्नी को शराब पिलाकर हत्या कर दी। मृतका अपने पति पर दहेज प्रताडऩा का केस करवा चुकी है और सास-ससुर को घर से बाहर निकलवा दिया हैँ।

पुलिस अधीक्षक डॉ. राजीव पचार ने बताया कि करण जी का गुड़ा हरिसिंह के बीड़ में कोट के पास में गुरूवार शाम एक शव पड़ा मिला था। इस पर मौके पर थानाधिकारी कमलेन्द्र सिंह मय जाब्ते के गए और शव को मोर्चरी में रखवाया। मृतका के कानों से खून निकल रहा था और एक आंख बाहर निकली हुई थी। काफी प्रयास के बाद मृतका की पहचान हेमा चौहान (25) पुत्र दौलतसिंह निवासी कामली घाट चौराहा देवगढ़ राजसमंद हाल धूणीमाता डबोक के रूप में हुई। इस पर पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज कर जांच शुरू की। पुलिस अधिकारियों ने थानाधिकारी कमलेन्द्र सिंह के नेतृत्व में एएसआई रणजीत सिंह, हैड कांस्टेबल जयसिंह, कांस्टेबल सुरेन्द्र कुमार, हंसराज, हरिसिंह, गोवर्धनविलास के हैड कांस्टेबल गणेश सिंह, कांस्टेबल राजेन्द्र सिंह, दिनेश सिंह की टीम का गठन किया गया। टीम ने जांच के दौरान ही पुलिस को पति दौलतसिंह चौहान के हाव-भाव पर शंका हुई। इस पर पुलिस ने मृतका हेमा के पति दौलतसिंह से पूछताछ की तो दौलतसिंह ने बताया कि वह घटना वाली रात्रि को अपने गांव गया हुआ था। इस पर पुलिस ने गोगुन्दा हाईवे पर लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज चैक की तो पता इसमें दौलतसिंह की कर नजर आ गई, जबकि दौलतसिंह का गांव उदयपुर होते हुए नेगडिय़ा होते हुए आता है। इस पर थानाधिकारी कमलेन्द्र सिंह ने मृतका हेमा के पति दौलतसिंह से सख्ती से पूछताछ की तों उसने हत्या करना स्वीकार कर लिया।

पूछताछ में दोलतसिंह ने बताया कि वह अपनी पत्नी हेमा से काफी परेशान हो गया था और वह उसे काफी परेशान कर रही थी। कई बार समझाने का प्रयास भी किया, लेकिन वह मान नहीं रही थी। जिससे वह मानसिक रूप से तनाव में था। इस पर उसने ठान लिया कि वह अपनी पत्नी को जान से मार देगा। इस पर उसने 8 नवम्बर की रात्रि को अपनी पत्नी के लिए शराब का क्वाटर्र लेकर आया और खुद के लिए बीयर लेकर आया। पत्नी को शराब पिलाई और खुद ने शराब पी और मौका देखकर पत्नी के सिर पर लट्ठ से हमला कर दिया। इसके बाद रस्सी से गला घोंंट कर हत्या कर दी। इसके बाद पत्नी के शव को कंबल में लपेटा और कार में डालकर अपने बड़े पुत्र को भी कार में बैठा दिया। कार लेकर वह वह डबोक, देबारी, उदयपुर, इसवाल, खमनोर होते हुए घटना स्थल पर पहुँचा और शव को वहां पर फैंककर अपने गांव चला गया, जहां पर नहा-धोकर खाना खाकर सो गया और दूसरे दिन फिर से घर आया और पत्नी की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करवा दी। पुलिस ने आरोपी पति दौलतसिंह पुत्र दीपसिंह निवासी कामली घाट चौराया देवगढ़ राजसंमद हाल धुणीमाता डबोक को गिरफ्तार किया। जिसे न्यायालय में पेश किया जहां से चार दिनों के रिमाण्ड पर प्राप्त किया है।

कई अफेयर, आरोपी के पास कई वीडियो कॉल

मृतका हेमा के कई युवकों से अफेयर चल रहे थे और कई युवाओं से वह विडियों कॉल पर बातें करती थी। कई विडियों कॉल की रिकार्डिंग तो हेमा के पति के मोबाईल में भी है। इससे यह मानसिक रूप से परेशान हो गया था। दौलत सिंह को देखकर लोग उसकी पत्नी के बारे में बातें करते थे, जिससे वह मानसिक तनाव में आ गया था, समझाने के बाद भी नहीं मानी तो हत्या कर दी।

दहेज प्रताडऩा का प्रकरण दर्ज करवा चुकी है मृतका : पुलिस के अनुसार मृतका हेमा अपने पति के खिलाफ न्यायालय में परिवाद पेश कर दहेज प्रताडऩा का मामला दर्ज करवा चुकी है। जिसको लेकर अभी कुछ दिनों पूर्व ही दोनों के बीच समझौता हुआ था और न्यायालय में एफआर पेश हुई है।

सास-ससुर को निकलवा चुकी थी मृतका

मृतका हेमा स्वच्छंद जीवन जीने जीना चाहती है और इसमें उसके सास-ससुर आड़े आ रहे थे। क्योंकि उसके साथ उसके सास और ससुर दोनों भी रहते थे, लेकिन हेमा दोनों को साथ नहंी रखना चाहती थी। इसी कारण उसने अपने पति से विवाद कर अपने सास और ससुर को घर से निकलवा दिया था। उसका ससुर वर्तमान में जिस फैक्ट्री में काम करता था, वहीं पर रहता है और सास गांव में रह रही है।

आत्महत्या की फिराक में था आरोपी

पुलिस पूछताछ में सामने आया कि हेेमा की हत्या करने के बाद दौलतसिंह भी तनाव में चल रहा था और वह खुद आत्महत्या करने के फिराक में था वो तो पुलिस ने समय पर पकड़ लिया, नहीं तो वह भी आत्महत्या कर लेता।

यू ट्यूब पर देखा गुमशुदगी कैसे दर्ज करवाते है

पत्नी हेमा की हत्या कर शव को फैंकने के बाद गांव जाने के बाद आरोपी दौलतसिंह ने यू ट्यूब पर देखा कि थाने में गुमशुदगी कैसे दर्ज करवाते है। इसके बाद वह डबोक थाने में गया और गुमशुदगी दर्ज करवाई थी।

दो वर्ष पूर्व भी किया था मारने का प्रयास

दौलत सिंह इतना शातिर था कि जैसे ही हत्या के बाद वह अपनी पत्नी के शव को कार में रखकर निकला तो उसने फोन को फ्लाइट मोड पर कर लिया था। ताकि नेटवर्क की लोकेशन ट्रेस न हो सके। आरोपी ने बताया कि दो साल पहले भी उसने पत्नी को मारने की योजना बनाई थी मगर वो सफल नहीं हो सका। उसने उस दौरान हेमा को कुएं में धक्का देकर मारने की कोशिश की थी, मगर वो बच गई थी। बाद में उसे हादसे का रूप दिया था।


Share